Breaking News
news/sunanda-murder-case
news/sunanda-murder-case

सुनन्दा कांड में हत्या का मामला दर्ज मुश्किल में थरूर

दिल्ली। कांग्रेस सांसद शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की रहस्यमय परिस्थितियों में हुई मौत के मामले की जांच के लिए दिल्ली पुलिस ने एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया है। दिल्ली पुलिस ने इस संबंध में मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर हत्या का मामला दर्ज किया है।
दिल्ली पुलिस के प्रमुख बीएस बस्सी ने बुधवार को यहां बताया कि हमने सुनंदा पुष्कर मामले की जांच के लिए एक एसआईटी का गठन किया है। उन्होंने थरूर से पूछताछ की संभावना से इंकार नहीं किया और कहा कि मामले की जांच के लिए जो भी जरूरी होगा, किया जाएगा।
यह पूछे जाने पर कि सुनंदा की मौत के करीब 1 वर्ष बाद हत्या का मामला क्यों दर्ज किया गया, बस्सी ने कहा कि एम्स की अंतिम रिपोर्ट के कारण एफआईआर दर्ज करना जरूरी हो गया था ताकि सुनंदा के विसरा के नमूने आगे की जांच के लिए विदेश भेजे जा सकें।
उन्होंने कहा कि जब हम भारतीय दंड संहिता की धारा 302 के तहत एक मामला दर्ज करते हैं तो इसका मतलब यह है कि हमारे पास इस बात पर विश्वास करने के प्रथम दृष्टया कारण हैं कि यह हत्या का मामला है।
दिल्ली पुलिस ने सुनंदा की मौत के मामले में मंगलवार को एम्स की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मामला दर्ज किया था। रिपोर्ट में यह निष्कर्ष निकाला गया है कि उनकी मौत अप्राकृतिक है और यह जहर के कारण हुई, लेकिन अभी तक किसी को संदिग्ध नहीं बनाया गया है। एफआईआर में भी किसी का नाम नहीं है।
जांचकर्ताओं ने सुनंदा के विसरा नमूने को ब्रिटेन या अमेरिका की प्रयोगशाला में भेजने का निर्णय किया है ताकि जहर की पहचान की जा सके, साथ ही यह भी पता लगाया जा सके कि क्या वह रेडियोधर्मी समस्थानिक (आइसोटोप) है जिसकी पहचान भारतीय प्रयोगशालाओं में नहीं की जा सकती है।
सूत्रों ने कहा कि दिल्ली पुलिस के दल ने केरल के तिरुवनंतपुरम में एक अस्पताल का दौरा किया, जहां सुनंदा को दिल्ली में एक पंचसितारा होटल में मौत से कुछ दिनों पहले भर्ती कराया गया था।
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि दल ने उन डॉक्टरों से मुलाकात की जिन्होंने सुनंदा का उपचार किया था। दल ने डॉक्टरों से सुनंदा की बीमारी के बारे में पूछा और मेडिकल रिकॉर्ड देने को कहा।
सूत्रों ने कहा कि एसआईटी थरूर, उनके रिश्तेदारों और निजी कर्मचारियों के साथ उस पंच सितारा होटल के कर्मचारियों से भी पूछताछ कर सकती है, जहां सुनंदा पिछले वर्ष 17 जनवरी को मृत पाई गई थीं।
दल होटल के डॉक्टर से भी पूछताछ करेगा जिसने सुनंदा को मृत घोषित किया था और होटल के सीसीटीवी फुटेज को देखेगा। सुनंदा के मोबाइल फोन और लैपटॉप की फारेंसिक रिपोर्ट का भी मूल्यांकन किया जाएगा।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

किसानो में गुस्सा, सिंधु बॉर्डर पर सुरक्षा कड़ी, पैरा मिलिट्री फोर्स तैनात

कृषि कानून रद्द करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों व सरकार के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *