Breaking News

68 अरब डॉलर का विदेशी कर्ज है भारत पर

भारत पर इस समय करीब 68 अरब डॉलर (4,207 अरब रुपए) का विदेशी क़र्ज़ है जिसका बहुत बड़ा हिस्सा सरकार द्वारा लिया गया कर्ज है। सूचना के अधिकार कानून के तहत यह जानकारी प्राप्त हुई है।
सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत वित्त मंत्रालय के आर्थिक कार्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार 11 दिसंबर 2014 की स्थिति के अनुसार भारत पर बकाया विदेशी ऋण 67,909,173,966 डॉलर (4,207,333,245,859 रुपए) था। वित्त मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार भारत पर बकाया कुल विदेशी ऋण में सरकारी एजेंसियों पर बकाया विदेशी ऋण (बहुपक्षीय एवं द्विपक्षीय ऋण) 59,091,790,296 डॉलर (3,661,049,595,333 रुपए) था जबकि गैरसरकारी एजेंसियों एवं संगठनों पर बकाया कर्ज 8,817,283,670 डॉलर (546,283,650,526 रुपए) था।

भारत पर यह विदेशी कर्ज अमेरिका, जर्मनी, फ्रांस, जापान, रूस, स्विट्जरलैंड, एशियाई विकास बैंक, ओपेक, अंतरराष्ट्रीय कृषि विकास कोष, अंतरराष्ट्रीय विकास संघ, अंतरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक आदि का है।
हिसार स्थित आरटीआई कार्यकर्ता रमेश वर्मा ने वित्त मंत्रालस से विदेशी देय कर्ज की राशि का ब्योरा मांगा था। सूचना के अधिकार के तहत वित्त मंत्रालय के सहायता लेखा और लेखा परीक्षा नियंत्रक कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार पर बकाया बहुपक्षीय ऋणों में एशियाई विकास बैंक (एडीबी) का 8,956,863,993 डॉलर, अंतरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक का 8,905,456,823 डॉलर का कर्ज है।
आरटीआई के तहत प्राप्त जानकारी के अनुसार सरकार पर बकाया ऋणों में बहुपक्षीय एजेंसियों एवं संगठनों से प्राप्त कर्ज 43,789,244,605 डॉलर (2,713,533,383,998 रुपए) तथा द्विपक्षीय आधार पर लिया गया कर्ज 15,292,54690 डॉलर (947,516,211,335 रुपए) था।
इसी तरह से सरकार पर बकाया ऋणों में बहुपक्षीय संगठन ओपेक का 21,284,215 डॉलर, अंतरराष्ट्रीय कृषि विकास कोष का 354,463,341 डॉलर, अंतरराष्ट्रीय विकास संघ का 2,593,316,794 डॉलर का कर्ज शामिल है।
बकाया द्विपक्षीय सरकारी कर्जों में जर्मनी का 2,340,311,258 डॉलर, फ्रांस का 386,936,038 डॉलर, इटली का 341,662 डॉलर, जापान का 11,464,760427 डॉलर, रूसी संघ का 87,85,28,188 डॉलर, स्विट्जरलैंड का 1,434 868 डॉलर, अमेरिका का 221,233,247 डॉलर बकाया है।

भारत में गैरसरकारी संगठनों एवं इकाइयों पर बहुपक्षीय एजेंसी एशियाई विकास बैंक (एडीबी) का 2,954,340,816 डॉलर, अंतरराष्ट्रीय पुनर्निर्माण एवं विकास बैंक का 3,041,904,936 डॉलर, अंतरराष्ट्रीय कृषि विकास कोष का 20,415,821 डॉलर का कर्ज बकाया है।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

लॉकडाउन में खोलकर बैठ गया फर्जी स्टेट बैंक की ब्रांच 3 माह बाद पकड़ा गया

 तमिलनाडु पुलिस ने  फर्जी बैंक खोलने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। कडलोर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *