Breaking News

 यूपी के ‘बाहुबली’ मुख्तार अंसारी व राजा भैया जीते  

लखनऊ ब्यूरो ! यूपी के बड़े बाहुबलियों में गिने जाने वाले  मुख्तार अंसारी पर हत्या, अपहरण, लूट समेत दर्जनों अपराध के मामले दर्ज हैं। अंसारी आगरा जेल में कैद हैं। अंसारी का रिकॉर्ड है कि वो जेल में रहकर चुनाव लड़ते और जीतते आ रहे हैं। इस बार वे यूपी की मऊ सदर सीट से वो बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार थे। उनका मुकाबला समाजवादी पार्टी के अल्ताफ अंसारी से था लेकिन यहाँ की जनता ने एक बार फिर से मुख्तार को  ही  ताज पहनाया जीत का । रघुराज प्रताप सिंह ऊर्फ राजा भैया  कुंडा की सीट से निर्दलीय चुनाव मैदान में थे। कहा जाता था कि राजा भैया के गढ़ में उन्हें चुनौती देना आसान नहीं था, और हुआ भी यही। बाहुबली राजा भैया ने भाजपा के जानकी प्रसाद पांडेय को करारी शिकस्त दी है।

विनीत, धनंजय, उपेंद्र, बजरंगी की बीवी, अखंड और भूपेंद्र को जनता ने नकारा

पीएम मोदी के ‘कटप्पा’ विधानसभा चुनाव में पूर्वांचल के बाहुबलियों और उनके सगे संबंधियों पर भारी पड़े। हालांकि मुख्तार अंसारी सलाखों के पीछे रहकर भी अपनी हनक बरकरार रखने में कामयाब रहे लेकिन उनके अपनों को चुनाव में मुंह की खानी पड़ी।वहीं विनीत, धनंजय और उपेंद्र जैसे जरायम की दुनिया के कुख्यात नामों को जनता ने सिरे से खारिज कर विकास का वादा करने वालेे प्रत्याशियों को चुना।

जानकारों का कहना है कि यह पूर्वांचल की राजनीति के लिए सुखद संकेत है और इससे साबित होता है कि नेता अब जनता से काम के बल पर ही वोट मांग पाएंगे।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 फरवरी को मऊ में चुनावी रैली में कहा था कि एक फिल्म के प्रमुख किरदार ‘कटप्पा’ ने बाहुबलियों का सफाया किया था।
सभा में ही एक छड़ी की तरफ इशारा करते हुए पीएम ने कहा था कि यह कानून का डंडा है और यह भी कटप्पा की तरह ही बाहुबलियों का सफाया करेगी। 11 मार्च के बाद सारे खेल खत्म हो जाएंगे। बीजेपी सरकार में जेल का मतलब पता चला जाएगा।
पीएम मोदी की इस बात को पूर्वांचल के मतदाताओं ने गंभीरता से लिया। नतीजतन, आगरा जेल में निरुद्ध मुख्तार अंसारी मऊ सदर से बमुश्किल 7452 वोट से बीजेपी-भासपा प्रत्याशी महेंद्र राजभर से जीत पाए।
मगर, मुख्तार के नाम के दम पर घोसी से उनका बेटा अब्बास अंसारी और गाजीपुर के  मुहम्मदाबाद से उनके भाई शिबगतुल्लाह अंसारी को भाजपा प्रत्याशियों ने हरा दिया। इसी तरह मोदी लहर में पूर्वांचल के अन्य बाहुबलियों में से रांची केंद्रीय कारागार में निरुद्ध चंदौली के सैयदराजा से बसपा प्रत्याशी विनीत सिंह को भाजपा के सुशील सिंह ने हराया।
जौनपुर के मड़ियाहू से झांसी जेल में निरुद्ध मुन्ना बजरंगी की पत्नी सीमा सिंह भी प्रत्याशी थी लेकिन इस सीट से भाजपा-अद (एस) गठबंधन की लीना तिवारी के सिर पर जीत का सेहरा बंधा।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी मिली है। धमकी का …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *