Breaking News
rajnath singh
rajnath singh

मसरत की रिहाई पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बोल

नई दिल्‍ली।  जम्‍मू-कश्‍मीर में अलगाववादी नेता मसरत की रिहाई के बाद उठे विवाद पर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंहने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर सरकार में बने रहना हमारी प्राथमिकता नहीं है।

राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता राष्ट्रीय सुरक्षा है न कि  ज़म्मूकश्मीरमें सरकार बनाए रखना। राज्य की सरकार में भाजपा एक सहयोगी पार्टी है।
उनका यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसद में दिए उस बयान के एक दिन बाद आया जिसमें प्रधानमंत्री ने साफ तौर पर कहा था कि अलगाववादी नेता मसर्रत आलम की रिहाई स्वीकार्य नहीं है और सरकार देश की एकता के साथ किसी भी तरह का समझौता बर्दाश्त नहीं करेगी।
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारी सरकार किसी भी कीमत पर राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता नहीं करेगी। हमारे लिए कोई भी सरकार चाहे वह गठबंधन की हो या बिना गठबंधन की, वह हमारी प्राथमिकता नहीं है। हमारी प्राथमिकता देश और उसकी सुरक्षा है। आपको हमारी मंशा को समझनी चाहिए।
केंद्रीय सुरक्षा बल सीआईएसएफ के 46वें स्थापना दिवस में शिरकत करने आए सिंह ने कहा कि यह तथ्य समझना चाहिए और मुझे लगता है कि इस बयान में सबकुछ समाहित है।
सिंह इस बात कायम रहे कि वह उस बयान से संतुष्ट नहीं हैं कि राज्य सरकार ने उनके मंत्रालय को इस विषय पर पहले ही आधिकारिक विवरण भेजा था।
गृहमं‍त्री ने कहा कि कल संसद में मैंने जो भी कहा था मैं अब भी उसी पर कायम हूं कि हमारे लिए सरकार प्राथमिकता नहीं है बल्कि हमारे लिए देश प्रथम है और वही सर्वोच्च है।गृह मंत्री ने इस मुद्दे पर राज्य सरकार से मुझे कुछ सूचना, स्पष्टीकरण चाहिए और वहां से कुछ हासिल होने के बाद ही मैं कुछ कह पाऊंगा। सिंह ने इस रिपोर्ट को भी खारिज किया कि मुफ्ती ने इस विषय पर उनसे बात की थी। उन्होंने कहा कि मैंने जम्मू कश्मीर के मुख्यमंत्री (मुफ्ती मुहम्मद सईद) से पिछले लगभग तीन सालों से बात नहीं की अथवा न तो उनके शपथ ग्रहण से पहले या न ही उसके बाद ही उनसे बात की।

लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों के सदस्यों ने अलगाववादी नेता की रिहाई पर ‘आक्रोश’ जताते हुए इसे ‘राष्ट्र-विरोधी’ और देश की अखंडता के लिए खतरा बताया। इसके अलावा उन्होंने इस मुद्दे पर मुफ्ती के नेतृत्व वाली सरकार से भाजपा को हटने की चुनौती भी दी।

 

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

विकास के साथ हर छोटे-बड़े अपराध में शामिल भाई की भी ना ही हिस्ट्रीसीट खुली न ही अपराधियों की सूची में नाम डाला गया,जांच में हुआ खुलासा

दहशतगर्द विकास दुबे का सगा भाई 16 साल से जमानत पर बाहर है। वह विकास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *