Breaking News

कौन होगा सूबे का अगला मुख्यमंत्री.. ?

देश का सबसे बड़ा सूबा उत्तर प्रदेश एक बार फिर चुनावी घमासान का कुरुक्षेत्र बनता नज़र आ रहा है राजनीतिक गलियारों से लेकर गाँव की चौपालों तक पान की दुकानों से लेकर होटलों व पार्कों में हर कोई यही गुफ्तगू करता व सवाल करता नज़र आ रहा है यूपी में अगली सरकार किसकी होगी और कौन बनेगा अगला मुख्यमंत्री ?
हालाकि उत्तर प्रदेश में होने जा रहे इस चुनावी शतरंज में जहाँ हर राजनैतिक दल अपने अपने मोहरे बिठाने में जुट गए हैं वही अभी कई प्रमुख दल इसी उधेड़बुन में हैं की पार्टी द्वारा मुख्यमंत्री के रूप में प्रोज़ेक्ट किसे किया जाए ! सपा से अखिलेश यादव कांग्रेस से शीला दीक्षित और बसपा से मायावती के अलावा लगभग हर दल में अभी तक मंथन ही चल रहा है सबसे बड़ी चुनौती तो भाजपा के सामने है सीएम की कुर्सी के लिये भाजपा के संभावित दावेदारों में कई नाम शामिल हैं लेकिन अभी तक भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री उम्मीदवार होगा कौन इसकी घोषणा नहीं की जा सकी है जब की इस मामले में सबसे कमजोर समझी जा रही कांग्रेस ने गुलाम नवी आज़ाद,राजबब्बर ,प्रमोद तिवारी , संजय सिंह आदि को प्रमुख दायित्व सौंपकर सांगठनिक ढांचे को भी मजबूती प्रदान करते हुए अब तक त्रिकोणीय समझे जा रहे यू पी विधान सभा के इस चुनाव को चतुष्कोणीय मुकाबला बना दिया है ! भाजपा के बारे में जरूर कयास लगाया जा रहा है कि दिल्ली और बिहार में झटका खाने के बाद असम के नतीजों से उत्साहित पार्टी आलाकमान उत्तर प्रदेश के लिये मुख्यमंत्री का चेहरा सामने ला सकता है। गौरतलब तो यह है की भाजपा की तरफ से भी करीब आधा दर्जन नेताओं के नाम बतौर मुख्यमंत्री उम्मीदवार चर्चा में लगातार बने हुए हैं लेकिन अंतिम फैसला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को ही लेना है। इतना तय है कि भाजपा किसी विवादित छवि वाले नेता को मुख्यमंत्री के रूप में यहाँ प्रोजेक्ट नहीं करना चाहेगी । इस बात का भी ध्यान रखा जायेगा कि मुख्यमंत्री की दौड़ में कोई ऐसा नेता भी आगे न किया

About Rizwan Chanchal

Check Also

असम और बिहार में बाढ़ से स्थिति गंभीर,करीब 37 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई

असम और बिहार में बाढ़ से स्थिति काफी गंभीर बनी हुई है और करीब 37 …