Breaking News

विरोध के बावजूद  सरकार ने असम में रामदेव को दिया 3800 हेक्टेयर जमीन का तोहफा

 दिल्लीः असम की भाजपा सरकार ने गठबंधन सहयोगी बीपीएफ के धड़े उल्फा के विरोध को नजरअंदाज करते हुए बाबा रामदेव को फैक्ट्री लगाने के लिए 3800 हेक्टेयर जमीन का तोहफा दे दिया है। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की पहल पर  बाबा की कंपनी पतंजलि को जमीन आवंटन की औपचारिकता भी पूरी हो गई है। इससे शपथ ग्रहण समारोह में  बाबा रामदेव के जाने का मकसद भी पूरा हो गया।  

योग के पीछे बाबा धंधा करना चाह रहेः उल्फा

उल्फा प्रमुख अभिजीत असमो  ने असम सरकार पर जमीन  आवंटित न करने के लिए काफी दबाव डाला, मगर कोशिश बेकार रही। विरोध के पीछे उनका कहना था कि हम योग के विरोध में नहीं हैं। मगर बाबा रामदेव जमीन लेने के लिए योग का सहारा ले रहे हैं। वे योग नहीं धंधा कर मुनाफा कमाने के लिए जमीन हथियाना चाह रहे हैं। मुस्लिम को प्रार्थना करने के लिए किसी विशेष जगह की जरूरत नहीं पड़ती उसी तरह योग के लिए भी किसी खास जगह की जरूरत नहीं पड़ती। आखिर बाबा असम में ही क्यों कारखाना लगाना चाह रहे। 

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

विकास के साथ हर छोटे-बड़े अपराध में शामिल भाई की भी ना ही हिस्ट्रीसीट खुली न ही अपराधियों की सूची में नाम डाला गया,जांच में हुआ खुलासा

दहशतगर्द विकास दुबे का सगा भाई 16 साल से जमानत पर बाहर है। वह विकास …