Breaking News

प्रवर्तन निदेशालय ने माल्या को 18 मार्च को तलब किया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आज शराब व्यापारी विजय माल्या को आईडीबीआई बैंक से मिले 900 करोड़ रुपए का कर्ज नहीं चुकाने से जुड़े मनी लांडरिंग के आरोपों की जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए तलब किया और किंगफिशर एयरलाइन्स के एक वरिष्ठ कार्यकारी से पूछताछ की। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि माल्या को 18 मार्च को यहां निदेशालय के जांचकर्ताओं के सामने तलब किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘माल्या को आईडीबीआई मामले में मनी लांडरिंग निवारक अधिनियम के प्रावधानों के तहत तलब किया गया है।’’

सूत्रों ने कहा कि माल्या को अपने वित्तीय ब्योरे के संबंध में दस्तावेज सौंपने के लिए कहा गया है। माल्या को उस दिन सम्मन जारी किया गया जिस दिन बंद पड़ी विमानन कंपनी किंगफिशर एयरलाइन्स के मुख्य वित्त अधिकारी ए. रघुनाथन को यहां बैलार्ड पीयर क्षेत्र में स्थित निदेशालय के कार्यालय में पूछताछ के लिए बुलाया गया। निदेशालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘हमने रघुनाथ को तलब किया था और वह सुबह हमारे सामने उपस्थित हुए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘उनसे पूछताछ महत्वपूर्ण है ताकि विभिन्न वित्तीय सौदों के संबंध में जानकारी मिल सके क्योंकि उनमें से कई रघुनाथन के व्यक्तिगत अधिकार क्षेत्र के हैं।’’

प्रवर्तन निदेशालय ने अवैध धन के कारोबार पर रोक लगाने वाले मनीलांडरिंग निवारक अधिनियम के प्रावधानों के तहत आईडीबीआई बैंक के और विजय माल्या के नेतृत्व वाली किंगफिशर एयरलाइन्स के छह से अधिक कर्मचारियों को सम्मन जारी किये हैं। उन्हें अपने पिछले पांच साल के वित्तीय ब्योरे और आयकर रिटर्न पेश करने को कहा गया है। अधिकारी के मुताबिक एसएफआईओ के सामने पिछले महीने अपने बयान में रघुनाथ ने किंगफिशर के वित्तीय संकट के लिए माल्या को जिम्मेदार ठहराया और कहा कि वह उनके अधीन काम करते थे।

इस मामले में आईडीबीआई के पूर्व अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक योगेश अग्रवाल को भी तलब किया गया था। निदेशालय ने हाल ही में माल्या और अन्य के खिलाफ पिछले साल सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आधार पर मनी लांडरिंग का मामला दर्ज किया है। एजेंसी किंगफिशर एयरलाईन्स के वित्तीय ढांचे की भी जांच कर रही है और इस बात की जांच करेगी कि रिश्वत तो नहीं दी गई है। निदेशालय ने सीबीआई द्वारा दर्ज मामले में माल्या और अन्य के खिलाफ मनी लांडरिंग निवारक कानून की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया। सीबीआई ने ऋण सीमा के संबंध में मानदंडों के उल्लंघन कर कथित तौर पर ऋण आवंटन के मामले में दायर प्राथमिकी में माल्या, किंगफिशर एयरलाइन्स के निदेशक, कंपनी, रघुनाथन और आईडीबीआई के अनजान अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया। उन्होंने कहा कि निदेशालय अपराध से जमा धन की भी जांच कर रही है जो कथित तौर पर ऋण धोखाधड़ी के जरिए इकट्ठा किया गया हो। साथ ही निदेशालय इस बात की भी जांच कर रहा है कि कहीं यह राशि गैरकानूनी तौर पर विदेश तो नहीं भेजी गई है। अटार्नी जनरल ने उच्चतम न्यायालय को बुधवार को सूचित किया था कि उन्हें सीबीआई ने बताया है कि माल्या दो मार्च को ही देश छोड़कर चले गए।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

लखनऊ में गैंगवार,पूर्व ब्लॉक प्रमुख अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या

प्रदेश की राजधानी लखनऊ में हुए गैंगवार के दौरान मऊ जिले के पूर्व ब्लॉक प्रमुख …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *