Breaking News

बिजली का 11000 वोल्ट का झटका भी बेअसर

दीपक को अपने शरीर के बारे में यह खासियत तब पता चली जब वह अपने घर में एक बार हीटर ठीक कर रहा था। दीपक का कहना है कि ‘यह भगवान का दिया तोहफा है। मैं बहुत खास महसूस करता हूं। मैं ऐसे काम कर सकता हूं जो दूसरा कोई कितनी भी कोशिशों के बाद नहीं कर सकता।’

‘पहले मुझे बिजली से डर भी लगता था। लेकिन अब मुझे भरोसा है। मैंने बार-बार कई तरह से टेस्ट करके देख लिया है कि बिजली मुझे नुकसान नहीं पहुंचाएगी। मैं बिजली का नंगा तार अपनी जीभ से छू सकता हूं और मैं जानता हूं मुझे कुछ नहीं होगा।’

दीपक ने कहा कि ‘उसे अपने शरीर की इस खासियत के बारे में तब पता चला जब उसने हीटर ठीक करते हुए बिजली का नंगा तार छू दिया था। उस वक्त उसे लगा था कि गांव में बिजली नहीं है।’

इसके दो हफ्ते बाद भी ऐसी ही घटना हुई। अपना डीवीडी प्लेयर ठीक करते हुए दीपक ने फिर से बिजली का तार छू दिया और उसे कुछ नहीं हुआ। इसके बाद उसने तार को बार-बार छुआ। शक होने पर बिजली कनेक्शन भी चेक किया।

इसके बाद उसे पूरा यकीन हो गया कि उसके शरीर में कुछ ऐसे लक्षण हैं जो किसी और के पास नहीं हैं। इस घटना के बाद दीपक ने बिजली के कई एक्सपेरिमेंट किए। उसने अलग-अलग वोल्टेज के तारों को छूकर देखा और उसे कुछ नहीं हुआ। अगर किसी सामान्य व्यक्ति ने उस तार को हाथ लगाया होता तो उसकी तत्काल मौत हो जाती।

हरियाणा में सोनीपत के पास एक गांव में रह रहे दीपक गांव में बिजली कनेक्शन ठीक करने का काम करता है। दीपक काम करने के लिए कोई पैसा नहीं लेता। उसका कहना भगवान की दी हुई शक्ति से पैसा क्यों कमाना। दीपक को अपने शरीर के बारे में यह खासियत तब पता चली जब वह अपने घर में एक बार हीटर ठीक कर रहा था। दीपक का कहना है कि ‘यह भगवान का दिया तोहफा है। मैं बहुत खास महसूस करता हूं। मैं ऐसे काम कर सकता हूं जो दूसरा कोई कितनी भी कोशिशों के बाद नहीं कर सकता।’

‘पहले मुझे बिजली से डर भी लगता था। लेकिन अब मुझे भरोसा है। मैंने बार-बार कई तरह से टेस्ट करके देख लिया है कि बिजली मुझे नुकसान नहीं पहुंचाएगी। मैं बिजली का नंगा तार अपनी जीभ से छू सकता हूं और मैं जानता हूं मुझे कुछ नहीं होगा।’

दीपक ने कहा कि ‘उसे अपने शरीर की इस खासियत के बारे में तब पता चला जब उसने हीटर ठीक करते हुए बिजली का नंगा तार छू दिया था। उस वक्त उसे लगा था कि गांव में बिजली नहीं है।’

इसके दो हफ्ते बाद भी ऐसी ही घटना हुई। अपना डीवीडी प्लेयर ठीक करते हुए दीपक ने फिर से बिजली का तार छू दिया और उसे कुछ नहीं हुआ। इसके बाद उसने तार को बार-बार छुआ। शक होने पर बिजली कनेक्शन भी चेक किया।

इसके बाद उसे पूरा यकीन हो गया कि उसके शरीर में कुछ ऐसे लक्षण हैं जो किसी और के पास नहीं हैं। इस घटना के बाद दीपक ने बिजली के कई एक्सपेरिमेंट किए। उसने अलग-अलग वोल्टेज के तारों को छूकर देखा और उसे कुछ नहीं हुआ। अगर किसी सामान्य व्यक्ति ने उस तार को हाथ लगाया होता तो उसकी तत्काल मौत हो जाती।

हरियाणा में सोनीपत के पास एक गांव में रह रहे दीपक गांव में बिजली कनेक्शन ठीक करने का काम करता है। दीपक काम करने के लिए कोई पैसा नहीं लेता। उसका कहना भगवान की दी हुई शक्ति से पैसा क्यों कमाना। (news18 से)

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

शिक्षा मित्रों ने कोविड 19 सर्वेक्षण डियुटी लगाने में की जा रही मनमानी पर जताया आक्रोश

राजधानी लखनऊ में  चिनहट ब्लाक के शिक्षामित्रों ने कोविड 19 सर्वेक्षण में मनमानी तरीके से …