Breaking News

सूबे में सबसे ज्यादा 11,11,212 नौजवान कानपुर में

देश के महारजिस्ट्रार की ओर से छोटे और बड़े शहरों की आबादी को लेकर उम्र के हिसाब से ताजा आंकड़ा जुलाई में जारी किया गया। इस आंकड़े के आइने में यूपी के शहरों में यंगिस्तान की झलक दिखाई पड़ रही है। सोलह से 35 साल तक के युवाओं की आबादी देखने पर कानपुर नंबर वन दिख रहा है।
सूबे में सबसे ज्यादा 11,11,212 नौजवान कानपुर सिटी और कैंटोमेंट बोर्ड एरिया में रहते हैं। नवाबों की नगरी लखनऊ नौजवानों की गिनती के मामले में दूसरे नंबर पर है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 10,65,000 से ज्यादा नौजवान है। 6,10,000 से ज्यादा नौजवानों की मौजूदगी ताज नगरी आगरा को तीसरे पायदान पर खड़ा करती है।

 देश के छोटे और बड़े शहरों में किस उम्र के कितने लोग रहते हैं, यह आंकड़े पहली बार केंद्र सरकार ने जारी किए है। शहरों में मूलभूत सुविधाओं के साथ केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं को अमली जामा पहनाने की दिशा में सहायक बनने वाले इन आंकड़ों में यूपी का चेहरा भी छिपा है। महानगरों में कानपुर, लखनऊ, आगरा के बाद गाजियाबाद शहर का है।

गाजियाबाद नगर निगम सीमा में 6,08,787 युवा रहते हैं तो यंगिस्तान के उम्रवार मापदंड में मेरठ शहर का पांचवा नंबर है। मेरठ में युवाओं की संख्यार 4,95,432 है। संगमनगरी इलाहाबाद में 4,64,364 तो वाराणसी में 4,59,305 नौजवानों की संख्या बतायी गयी है। मुरादाबाद में 3,40,595,अलीगढ़ में 3,39,917,बरेली में 3,37,475, सहारनपुर में 2,67,560,गोरखपुर में 2,62,464 तो झांसी नगर निगम एरिया में सबसे कम 1,95,733 नौजवानों की संख्या दर्ज हुई है।

 

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

निर्माणाधीन मकान की दूसरी मंजिल में मिला दो दिन से लापता चमेली का शव

राजधानी लखनऊ के गोमती नगर विस्तार थाना क्षेत्र में बीते दो दिनों से लापता महिला …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *