Breaking News

एक छतरी के नीचे बिहार चुनाव बाद अभी नहीं

 समाजवादी पार्टी नेता रामगोपाल यादव ने कहा है कि बिहार में जेडीयू और आरजेडी को अलग अलग चुनाव लड़ना चाहिए। जनता परिवार के विलय को बिहार चुनाव के मद्देनजर अग्निपरीक्षा के तौर पर देखा जा रहा है। ऐसे में रामगोपाल यादव के इस बयान के कई राजनीतिक मायने निकाले जा रहे हैं। उधर विरोधियों का कहना है कि जनता परिवार का एक साथ आना सिर्फ एक सपना है।

रामगोपाल यादव ने कहा है कि बिहार एसेंबली चुनाव से पहले संभव नहीं लगता क्योंकि इसमें टेक्नीकेलिटीज बहुत हैं। इसलिए मेरे विचार से जेडीयू और आरजेडी को अपने चुनाव चिन्ह बचाते हुए सीट के समझौता करके चुनाव में जाना चाहिए और चुनाव के बाद रीयूनियन पर चर्चा हो सकती है।

वहीं एसपी के सांसद रामगोपाल यादव का बयान दो मामलों में अहम हो जाता है। यादव का ये बयान इस बात का संकेत है कि गठजोड़ कामयाब होने का दावा अभी खोखला है। इधर जेडीयू नेता शरद यादव भरोसा नहीं दिला पा रहे हैं कि बिहार चुनाव से पहले जनता पार्टी के बिखरे सदस्य एक छतरी के नीचे आ पायेंगे या नहीं।

 

बता दें कि 15 अप्रैल को जनता परिवार के औपचारिक ऐलान के बाद सात सदस्यीय कमेटी को जिम्मा दिया गया कि नई पार्टी का नाम, चुनाव चिन्ह और झंडा तय करें। अब रामगोपाल यादव ने इस ओर इशारा किया है कि ये सब बिहार चुनाव से पहले तय करना संभव नहीं है।

 

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

किसानो में गुस्सा, सिंधु बॉर्डर पर सुरक्षा कड़ी, पैरा मिलिट्री फोर्स तैनात

कृषि कानून रद्द करने की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे किसानों व सरकार के …