Breaking News

फिर तैयार रहिये मिनी चुनावी संग्राम के लिए

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजे घोषित हो चुके  पूरे देश में भारतीय जनता पार्टी  ने प्रचंड बहुमत पाया  और सरकार बना रही है इधर देश के सबसे अधिक सीटों वाले सूबे  उत्तर प्रदेश में फिर छोटे मोटे चुनाव जैसी ही स्थित बनी हुई है यहाँ लोकसभा चुअनाव में कई ऐसे प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की, जो पहले से विधायक थे और उनमें से कुछ योगी कैबिनेट में मंत्री भी हैं। जाहिर है, इनके जीतने की वजह से विधानसभा की सीटें खाली होंगी और उन सीटों पर एक बार फिर से चुनाव होंगे ही। रीता बहुगुणा जोशी ने 2017 उत्तर प्रदेश विधानसभा के चुनाव के दौरान कांग्रेस का हाथ छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया था। वह लखनऊ कैंट की सीट दर्ज करके योगी सरकार में मंत्री बनीं। इस बार के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने उन्हें इलाहाबाद की सीट से उतारा था। उन्होंने यहां से सपा के प्रत्याशी राजेंद्र प्रसाद को 1 लाख 84 हजार वोटों से हरा दिया सपा के नेता और रामपुर से विधायक आजम खान ने रामपुर की लोकसभा सीट से सांसद का चुनाव जीता हैं. उन्होंने भाजपा की प्रत्याशी जया प्रदा को करीब एक लाख से ज्यादा वोटों से हराया है। आजम खान के ससंद पहुंचेने के बाद रामपुर की सीट पर भी फिर से विधानसभा के चुनाव होंगे।इसी तरह उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री और गोविंदपुर से विधायक सत्यदेव पचौरी को भाजपा ने कानपुर की लोकसभा सीट से चुनावी मैदान में उतारा था। पचौरी ने कानपुर से कांग्रेस के श्रीप्रकाश जयसवाल को करीब 1 लाख 55 हजार के बड़े अंतर हराया है। सांसदीय चुनाव में जीत के बाद उनकी गोविंदपुर विधानसभा की सीट खाली हो गई है, मानिकपुर से विधायक आर के सिंह पटेल ने बांदा की लोकसभा सीट से जीत दर्ज की है। पटेल ने यहां से श्यामा चरण को गुप्ता को करीब 58 हजार से वोटों से मात दी है। मनिकपुर एक बार फिर से अपना विधायक चुनेगा ,एसपी सिंह बघेल ने 2017 के यूपी विधानसाभा चुनाव में टूंडला की विधानसभा सीट से जीत दर्ज की थी। इस बार के आम चुनाव में भाजपा ने उन्हें आगरा की लोकसभा सीट से उतारा था। बघेल ने यहां से बसपा के उम्मीदवार मनोज कुमार को सोनी को 2 लाख के भारी अंतर से हराया है। एसपी की सीट भी अब खाली हो चुकी यहाँ फिर से विधानसभा के चुनाव होंगे। बाराबंकी लोकसभा सीट से भाजपा के प्रत्याशी उपेंद्र सिंह रावत ने सपा के उम्मीदवार रामसागर रावत को एक लाख दस हजार वोटों से शिकस्त दी है। उपेंद्र सिंह यूपी की जैदपुर विधानसभा से 2017 में विधायक बने थे। उनके सांसद बनने के बाद जैदपुर एक बार फिर से अपना विधायक चुनेगा।

About Rizwan Chanchal

Check Also

विकास के साथ हर छोटे-बड़े अपराध में शामिल भाई की भी ना ही हिस्ट्रीसीट खुली न ही अपराधियों की सूची में नाम डाला गया,जांच में हुआ खुलासा

दहशतगर्द विकास दुबे का सगा भाई 16 साल से जमानत पर बाहर है। वह विकास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *