Search
Monday 24 June 2019
  • :
  • :
Latest Update

लखनवी वोटरों ने फिर राजनाथ व कौशल किशोर को गले लगाया

लखनवी वोटरों ने फिर राजनाथ व कौशल किशोर को गले लगाया

लखनवी मतदाताओं ने एक बार फिर गृहमंत्री राजनाथ सिंह को 347302 मतों के भारी भरकम अंतर से जीत का तोहफा दिया है। वहीं  मोहनलालगंज सीट पर भी भाजपा प्रत्याशी कौशल किशोर के सिर जनता ने जीत का ताज बाँधा पिछली बार लगभग डेढ़ लाख वोटों से जीत दर्ज करने वाले कौशल किशोर ने दूसरी बार भी यहाँ शानदार जीत हासिल की !

राजधानी स्थित  रमाबाई अंबेडकर रैली स्थल पर कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह आठ बजे विधान सभावार मतों की गणना शुरू हुई। गणना के पहले चक्र से ही भाजपा प्रत्याशी राजनाथ सिंह ने अपने विरोधियों पर जो बढ़त बढ़ाना शुरू की तो हर चक्र की गणना के बाद इसका अंतर बढ़ता ही गया।
भाजपा प्रत्याशी राजनाथ सिंह ने लखनऊ संसदीय क्षेत्र में कुल पड़े 11,07,100 मतों में 56.7 फीसदी मत प्राप्त कर जीत का ऐसा परचम फहराया कि गठबंधन की सपा प्रत्याशी पूनम सिन्हा व कांग्रेस प्रत्याशी आचार्य प्रमोद को छोड़ बाकी 12 प्रत्याशी अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए। ईवीएम मतों की सवा नौ बजे करीब खत्म हुई पहले चरण की मतगणना के दौरान राजनाथ ने 23777 मत प्राप्त कर निकटमत प्रत्याशी सपा की पूनम 1729 और कांग्रेस के प्रमोद 6232 से बढ़त बनाना शुरू कर दिया था।
पांचवे चक्र की मतगणना के बाद राजनाथ के पक्ष में जहां 112252 मत दर्ज हो चुके थे तो वहीं सपा की पूनम को 58696 और कांग्रेस के प्रमोद के मतों की संख्या 38726 ही रही थी । दोपहर 12 बजे के बाद से जैसे जैसे विधानसभावार मतों की गणना का चक्र पूरा होता गया राजनाथ की लीड भी वैसे वैसे आगे होती गयी।
इसके चलते ही 10 वें चक्र की गणना तक भाजपा के राजनाथ को मिले मतों की संख्या जहां 229392 पहुंच गयी वहीं सपा की पूनम 119722 व कांग्रेस के प्रमोद के मत 74049 तक ही पहुंच सके। इससे राजनाथ की बढ़त का आकंड़ा 1.09 लाख तक पहुंच गया।राजनाथ की अजेय बढ़त को देख गणना कक्ष के अंदर से लेकर बाहर तक मौजूद पार्टी एजेंट व कार्यकर्ताओं के चेहरे राजनाथ की जीत सुनिश्चित मान खुशी से चमकने लगे। इसके बाद से ही मतगणना कक्षों में मौजूद अन्य प्रत्याशियों के बचे कुछ एक मतगणना एजेंटों ने भी काउंटिंग कक्ष छोड़ घर का रास्ता पकड़ लिया।

इसके चलते ही अंतिम दौर में हुई मतों की गणना के दौरान मतगणना कक्षों में सिर्फ भाजपा काउंटिंग एजेंट व मतगणना कर्मी ही मौजूद दिखे। दोपहर दो बजे करीब पूरी हुई 20 वें चक्र की गणना के बाद राजनाथ के मतों की संख्या 462306, 25वें चक्र की गणना बाद 583619 तक पहुंच गयी जो अंतिम 30वें चक्र की गणना के बाद 627881 मतों तक पहुंच कर थमी जबकि इस दौरान सपा की पूनम के मतों की संख्या 282858 और कांग्रेस के प्रमोद के मतों की संख्या 178904 तक ही पहुंच सकी।
इस तरह राजनाथ सिंह ने लगातार दूसरी बार लखनऊ सीट पर सपा प्रत्याशी पूनम सिन्हा को 74503 मतों के भारी भरकम अंतर से हरा कर जीत हासिल की।जिला निर्वाचन अधिकारी ने अधिकृत तौर पर रात नौ बजे परिणाम की घोषणा करते हुए राजनाथ की जीत का ऐलान कर राजनाथ सिंह की गैर मौजूदगी में उनके चुनाव अभिकर्ता दिवाकर त्रिपाठी को जीत का प्रमाणपत्र प्रदान किया।

कई चरणों की मतगणना में उठापटक के बाद मोहनलालगंज सीट पर भाजपा प्रत्याशी कौशल किशोर ने जो रफ्तार पकड़ी वह जीत के परिणाम पर ही जाकर रुकी। पिछली बार लगभग डेढ़ लाख वोटों से जीत दर्ज करने वाले कौशल किशोर ने दूसरी बार मोहनलालगंज सीट पर खबर लिखे जाने तक लगभग सवा लाख वोटों से आगे चल रहे थे।

पहले चरण में पिछड़ने के बाद आई तेजी
पहले चरण में भाजपा प्रत्याशी कौशल किशोर बसपा के सीएल वर्मा से लगभग एक हजार वोटों से पिछड़ गए। भाजपा को पहले चरण में 17 हजार 208 और बसपा प्रत्याशी को 18 हजार 263 मत मिले। वहीं कांग्रेस प्रत्याशी आरके चौधरी को केवल एक हजार 370 वोट ही मिल पाए। वहीं यह सिलसिला आगे बढ़ते हुए 10वें चरण की गिनती में बसपा को एक लाख 72 हजार 524 वोट मिले तो इसके मुकाबले भाजपा को एक लाख 96 हजार 716 मत प्राप्त हुए। वहीं कांग्रेस को केवल 15 हजार 975 वोट ही मिल पाए। इसके बाद 11वें चरण में भाजपा ने काफी छलांग लगाकर बसपा को लगभग 28 हजार वोटों से पीछे ढकेल दिया। वहीं 12वें चरण में भाजपा के कौशल किशोर को दो लाख 36 हजार 796 तो बसपा के सीएल वर्मा को दो लाख 6 हजार 476 मत ही मिल पाए। जबकि कांग्रेस के आरके चौधरी को 19 हजार 656 वोट मिले।

25वें चरण ने तस्वीर की साफ
लगभग 24वें चरण तक भाजपा-बसपा के बीच कांटे का संघर्ष चलता रहा। जब मतगणना का चरण 25वें चरण की गिनती ने मोहनलालगंज सीट की तस्वीर लगभग साफ कर दी। इस चरण में भाजपा ने जहां चार लाख 92 हजार 845 वोट मिले तो बसपा को चार लाख 41 हजार 293 वोट मिल गए। यहां से लगभग पचास हजार वोटों की बढ़त तीसवें चरण तक पहुंचते-पहुंचते लगभग 90 हजार के अंतर तक पहुंच गई। तीसवें चरण में भाजपा प्रत्याशी कौशल किशोर जहां पांच लाख 91 हजार 594 वोट मिले तो बसपा प्रत्याशी सीएल वर्मा को पांच लाख 8 हजार 959 वोट ही मिल पाए। जबकि कांग्रेस के प्रत्याशी आरके चौधरी 54 हजार 261 वोट पाकर लड़ाई से काफी पीछे छूट गए .
मोहनलालगंज सुरक्षित सीट पर भाजपा ने 23 साल बाद एक बार फिर अपना इतिहास दोहराया है। वहीं सपा की चार बार वाली जीत की बराबरी भी कर ली। वर्ष 1991 और 1996 में भाजपा इस सीट पर लगातार जीती थी। इसके बाद वर्ष 1998 के उपचुनाव में सपा ने कब्जा कर लिया। रीना चौधरी 1998 के बाद 1999, जयप्रकाश रावत ने 2004 और फिर सुशीला सरोज ने 2009 में यह सीट सपा के पास सुरक्षित रखी थी। 2014 में 18 साल के अंतराल के बाद कौशल किशोर ने इस सीट पर भाजपा के सूखे को खत्म किया। 2014 के चुनाव में 4,55,274 वोटों के साथ उन्होंने बसपा प्रत्याशी आरके चौधरी (3,09,858) को हराकर इस सीट पर कब्जा जमाया था। भाजपा प्रत्याशी कौशल किशोर ने लगातार दूसरी बार इस सीट पर जीत हासिल कर 23 साल बाद एक बार फिर भाजपा के इतिहास को दोहराया है।




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *