Search
Monday 24 June 2019
  • :
  • :
Latest Update

एग्जिटपोल के नतीजों में एक बार फिर मोदी सरकार?

एग्जिटपोल के नतीजों में एक बार फिर मोदी सरकार?

2019 के महासंग्राम के अंतिम चरण मतदान के दिन आये एग्जिटपोल के नतीजों में एक बार फिर मोदी सरकार की ताजपोसी होती बताई जा रही है  हाला कि 23 मई को असली परिणाम का  इंतजार अभी बाकी है लेकिन लगभग सभी एग्जिट पोल यही  कह रहे हैं कि एनडीए पुनः आसानी के साथ सरकार बनाने जा रही है। यूपीए को 2014 के मुकाबले भले थोड़ा फायदा पहुंचता दिख रहा हो लेकिन बहुमत के आंकड़े से वो  अभी भी काफी दूर है।

इस बार 2014 के एग्जिट पोल में सबसे सटीक भविष्यवाणी करने वाले न्यूज 24-चाणक्य के पोल में एनडीए को पहले से भी कहीं ज्यादा यानी 350 सीटें मिलने जा रही हैं। वहीं यूपीए को 95 और अन्य को 97 सीटें दिखाई गई हैं।
न्यूज 18-इप्सॉस के पोल में एनडीए को 336 सीटें दिखाई गईं है। आपको बता दें कि ये आंकड़ा ठीक 2014 जितना ही है। वहीं यूपीए को 82 और अन्य को 124 सीटें दी गई हैं।  न्यूज नेशन ने अपने एग्जिट पोल में एनडीए को 282 से 290 के बीच सीटें दी हैं। यूपीए 118 से 126 सीट के बीच झूल रहा है। वहीं अन्य को 130 से 138 सीटें मिली हैं।टाइम्स नाउ-वीएमआर के मुताबिक एनडीए को 306, यूपीए को 132 और अन्य को 104 सीटें मिली हैं। इंडिया टीवी-सीएनएक्स के एग्जिट पोल में भी एनडीए को 300 सीट मिली हैं। यूपीए को 120 और अन्य को 122 सीटें दिखाई गई हैं।  बताते चलें कि इस बार जहाँ पी एम नरेन्द्र मोदी ने देश  भर में करीब डेढ़ लाख किलोमीटर की यात्रा की और 142 रैलियों को संबोधित किया वहीं  राहुल गांधी ‘चौकीदार चोर है’ के साथ अपना चुनावी अभियान आगे बढ़ाते रहे

 19 मई को शाम 6 बजे मतदान खत्म हुआ, तत्काल बाद ही  एग्जिट पोल का दौर शुरू हो गया सबकी नजर इस ओर थी कि क्या भाजपा यूपी में 2014 वाला करिश्मा दोहरा पाएगी ये देखने के लिए  लोग टी वी पर नज़रें गडाए थे  एग्जिट पोल में वैसा रुझान तो नहीं दिखा, लेकिन एग्जिट पोल सर्वे  के मुताबिक भाजपा को वैसा नुकसान भी होता नहीं दिख रहा है जैसा की अनुमान जताया जा रहा था। उत्तर प्रदेश में अधिकतर एजेंसियां भाजपा को 50 से ज्यादा सीटें दे रही हैं।
एग्जिट पोल नतीजे जो बता रहे हैं उससे स्पष्ट है  कि भाजपा ने सपा-बसपा गठबंधन को  जबरदस्त टक्कर दी है जब की चुनाव से पहले जब सपा-बसपा गठबंधन ने आकार लिया था तो सभी ने यही मान लिया था कि भाजपा 20-30 सीटें भी लाई पाई तो बड़ी बात होगी। लेकिन एग्जिट पोल की मानें तो भाजपा फिलहालयहाँ भी भारी ही नज़र आ रही है। जब की  सपा-बसपा ने चुनाव से ऐन पहले गठबंधन कर भाजपा की पूरी रणनीति को बिगाड़ दिया था सपा-बसपा के साथ रालोद भी थी  हालांकि इस गठबंधन से कांग्रेस अलग थलग पड़ गई, लेकिन उसने प्रियंका गांधी को पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान देकर लड़ाई को दिलचस्प बनाया। प्रियंका ने न सिर्फ यूपी बल्कि पूरे देश में कांग्रेस के लिए प्रचार व रोड शो किया जिसमें जबरदस्त भीड़ उमड़ी।याद रहे 2014 लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में भाजपा-सहयोगियों ने मोदी लहर में 73 सीटें जीती थीं। सपा को पांच, कांग्रेस को दो सीटें मिली थीं। बसपा को सबसे बड़ा झटका लगा था और उसका खाता तक नहीं खुल पाया था। इस बार सपा-बसपा ने गठबंधन कर भाजपा की लड़ाई को मुश्किल बनाया लेकिन शायद गठबंधन उतना सफल नहीं हो सका जितनी की उम्मीद की जा रही थी यह भी बता दें की ये एग्जिट पोल के नतीजों पर आधारित खबर है परिणाम तो सही तभी आयेंगें जब 23 मई को मतगणना होगी  ।



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *