Breaking News

मुस्लिमों को मतदान से वंचित करने वाले बयान से उठा सियासी तूफान

लखनऊ ! शिवसेना नेता और पार्टी के मुखपत्र सामना के संपादक संजय राउत द्वारा मुस्लिमों को मतदान के अधिकार से वंचित करने के बयान को लेकर  सियासी हंगामा मच गया है। इस बयान के बाद विरोधी दलों ने राउत पर जमकर हमला बोल दिया  है। कांग्रेस ने जहाँ  राउत की राज्यसभा की सदस्यता को तत्काल निलंबित करने की मांग की है वहीं एमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने इसे लेकर केंद्र सरकार को निशाना बनाया है। ओवैसी ने कहा कि शिवसेना सांसद-विधायक केंद्र और राज्य की कैबिनेट में हैं सरकार उनके बयान से खुद को अलग नहीं कर सकती। सरकार को साफ करना चाहिए कि राउत के बयान पर उसका क्या रवैया है।

आप नेता आशुतोष और संजय सिंह ने कहा कि संजय राऊत की 24 घंटे के अंदर गिरफ्तारी होनी चाहिए। सामना का पब्लिकेशन बंद होना चाहिए। पार्टी इन बयानों की निंदा करती है। साक्षी महाराज भी लगातार भड़काऊ बयान देते रहे हैं, उनकी भी गिरफ्तारी होनी चाहिए।संसदीय कार्यमंत्री वेंकैया नायडू ने राउत के बयान से सरकार को अलग करते हुए कहा कि भारत एकमात्र ऐसा देश है जिसने आजादी के बाद सभी अल्पसंख्यकों को वोटिंग का अधिकार दिया। इस तरह के सुझाव पर चर्चा करना भी स्वीकार्य नहीं है। धर्म के आधार पर किसी तरह का भेदभाव नहीं होगा। लेकिन सरकार के बयान से विरोधी दल संतुष्ट नहीं हैं। वहीं कांग्रेस नेता संजय निरूपम ने कहा कि इस बयान को 24 घंटे हो चुके हैं, लेकिन अभी तक भी कोई कार्रवाई संजय राउत पर नहीं हुई है। केंद्र में उनकी सहयोगी बीजेपी की सरकार है औऱ सरकार को उनके खिलाफ एक्शन लेना चाहिए। संजय राउत की गिरफ्तारी होनी चाहिए और अगर प्रधानमंत्री इस पर कुछ नहीं बोलते हैं तो ये समझा जाएगा कि उनका भी इसको समर्थन है।

 

About Rizwan Chanchal

Check Also

राजस्थान हाईकोर्ट द्वारा पायलट खेमे को बड़ी राहत, यथास्थिति को बरकरार रखने के आदेश

राजस्थान हाईकोर्ट ने कांग्रेस के बागी नेता सचिन पायलट खेमे को बड़ी राहत देते हुए …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *