Breaking News

पीएम ने देश के एक करोड़ एक लाख से ज्यादा किसानों के खाते में भेजे दो हजार 21 करोड़

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को खाद कारखाना मैदान से किसान सम्मान निधि योजना की शुरूआत की। साथ ही देश के 21 राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के एक करोड़ एक लाख 6880 किसानों के बैंक खाते में दो हजार 21 करोड़ रुपये की पहली किस्त भेज दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि जिन किसानों के बैंक खातों में पहली किस्त की रकम नहीं पहुंची है, उन्हें कुछ सप्ताह में मिलेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी नियत साफ थी। योजना बनाई और बजट का प्रावधान किया। अब रकम बैंक खातों में भेज दी। महामिलावटी लोगों की नियत साफ नहीं थी। कर्जमाफी के नाम पर वह बार-बार किसानों को छलते रहे हैं।

किसान रैली में आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक घंटा तीन मिनट तक अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं तो कांग्रेस को कई बार निशाने पर लिया। सपा-बसपा पर भी निशाना साधा और गठबंधन को महामिलावटी बताया। विकास परियोजनाओं के शिलान्यास और लोकार्पण के बाद प्रधानमंत्री ने कहा कि गुरु गोरक्षनाथ की नगरी के लिए आज ऐतिहासिक दिन है। खाद कारखाना मैदान से अन्नदाता को समृद्धि करने की किसान सम्मान निधि योजना की शुरूआत की गई है। गुजरात के कांडला से गोरखपुर के बीच दुनिया की सबसे बड़ी एलपीजी गैस पाइप लाइन का शिलान्यास किया गया। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब बार-बार झूठ बोलने और अफवाह फैलाने वालों से सावधान रहने की जरूरत है। किसान सम्मान निधि योजना का लाभ देश के 12 करोड़ किसानों को मिलेगा। यह अन्नदाता का हक है। पूरा पैसा मिलेगा और हर साल मिलेगा। इसे कोई वापस नहीं ले सकता है। 10 साल में साढ़े सात लाख करोड़ रुपये किसानों के बैंक खाते में भेजे जाएंगे। किसी की जाति, मजहब नहीं देखी जाएगी। भाजपा सरकार का मूल मंत्र सबका साथ सबका विकास है। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है।

कर्जमाफी का फैसला आसान था
पीएम मोदी ने कहा कि कर्जमाफी का फैसला आसान था। चुनाव से पहले खेल खेल सकते थे लेकिन मोदी ऐसा पाप नहीं करेगा। हम किसानों की आय बढ़ाने में लगे हैं। सिंचाई परियोजनाओं को पूरा कर रहे हैं। कर्जमाफी का लाभ सिर्फ कांग्रेस के चेले-चपाटों को मिलता है। कर्जमाफी के नाम पर कांग्रेस ने बड़ा घोटाला किया था। तीन करोड़ किसानों की कर्जमाफी का दावा किया था। इसमें से 35 लाख लोग ऐसे थे, जिनका खेती-किसानी से कोई नाता नहीं था। किसानों की समृद्धि की योजना बनाई तो महामिलवाटी लोगों के चेहरे गिर गए। निराशा से मरे पड़े थे। अब झूठ बोलने में लगे हैं कि सम्मान निधि की रकम एक साल मिलेगी, फिर वापस ली जाएगी। ऐसा कतई नहीं होने वाला है। देश के सुविधा-संसाधन पर पहला हक किसान, गांव, गरीब का है। यह योजना चलती रहेगी। इसे कोई नहीं बंद कर सकता है। किसी के कहने से सूची में नाम बढ़ाया या घटाया नहीं जाएगा।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

deshraj

फर्जी सरकारी नौकरी का नियुक्त कार्ड बांट लोगों से करोड़ों ठगी करने वाला गिरफ्तार, जाली नियुक्ति पत्र और पहचान पत्र हुए बरामद

सरकारी नौकरी दिलाने का दावा कर धोखाधड़ी करने वाले दो शातिर ठगों को एस टी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *