Search
Sunday 21 April 2019
  • :
  • :
Latest Update

प्रदेश भर में ताबड़तोड़ छापे 600 गिरफ्तार 46 पुलिस कर्मियों पर गिरी गाज़

प्रदेश भर में ताबड़तोड़ छापे 600 गिरफ्तार 46 पुलिस कर्मियों पर गिरी गाज़

 लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के सख्त तेवर के बाद पूरे प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ अभियान छेड़ दिया गया और ताबड़तोड छापे मारकर 600 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया। इस सिलसिले में 297 मुकदमे दर्ज किये गये। कुशीनगर मे जहरीली शराब से 11 लोगों की मौत के मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए तरयासुजान थाने के 46 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया।  छापे के दौरान बड़े पैमाने पर अवैध शराब व बनाने की कच्ची सामग्री बरामद की गयी। अकेले बस्ती व गाजियाबाद जिले में एक-एक ट्रक अवैध अंग्रेजी शराब बरामद की गयी। हरदोई जिले से 178 गिरफ्तार किये गये। हरदोई जिले में चले अभियान में 2212 लीटर कच्ची शराब, 75 भट्ठी व पुलिस ने 1400 लीटर लहन नष्ट कराया गया तथा 158 मुकदमें दर्ज कर 178 व्यक्ति गिरफ्तार किये गये। जबकि रायबरेली में अवैध शराब की भारी मात्रा में बरामदगी से आबकारी विभाग की पोल खुल गयी शासन स्तर से लताड़े जाने पर पुलिस की मदद से हुई छापामारी में 1780 लीटर शराब व 89 अभियुक्त गिरफ्तार किये गये। अमेठी में भी अभियान में 30 गिरफ्तार और 324 लीटर कच्ची शराब व 4 कुंटल लहन बरामद करके नष्ट कर दिया गया। गोण्डा में अवैध शराब के खिलाफ चलाये गये अभियान में लिप्त 13 लोगों को गिरफ्तार किया गया और 315 लीटर देशी शराब और 2000 लीटर अवैध शराब का लहन नष्ट किया गया है।दूसरी ओर शाहजहांपुर के पुंवाया में अवैध शराब नष्ट करने के अभियान में गये दरोगा का चेहरा झुलस गया। दारोगा जगदीश चन्द्र भाटी जब लहन नष्ट कर रहे थे तो लहन उनके चेहरे पर आ गिरा। सीतापुर में अवैध शराब के कारोबार के खिलाफ बड़ी कामयाबी मिली। पुलिस के मुताबिक 70 लोगों को पकड़ा गया है। इस अभियान में 23 के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी और 18 को जेल भेजा गया है बाकी के खिलाफ कार्रवाई चल रही है। यहां 500 लीटर कच्ची शराब पकड़ी गयी और 2950 किलो लहन पकड़ा गया। इसी तरह बिजनौर में 27 लोगों को गिरफ्तार किया गया। एक हजार लीटर शराब बरामदगी के साथ 2500 लीटर लहन नष्ट किया गया। छापेमारी शनिवार की शाम तक चली, इनमें कानपुर में 5, मेरठ में 4 गिरफ्तार किये गये। बाराबंकी में भी 36 लोगों को गिरफ्तार किया गया।राजधानी लखनऊ में भी पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने खुद ही मोर्चा संभाला। लखनऊ के ग्रामीण हिस्सों में इस कारोबार में लिप्त 38 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया। पूरे प्रदेश में चले इस अभियान की निगरानी डीजीपी मुख्यालय से की गयी और जोन में एडीजी के स्तर पर मॉनीटरिंग का जिम्मा था। प्रदेश में एक साथ चले अभियान में देर रात तक चले अभियान में गिरफ्त में आये आरोपियों की संख्या में बढ़ोतरी भी हो सकती है। 




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *