Search
Tuesday 20 August 2019
  • :
  • :
Latest Update

बजट आज, प्रदेश को मिल सकती है पौने पांच लाख करोड़ की सौगात

बजट आज, प्रदेश को मिल सकती है पौने पांच लाख करोड़ की  सौगात

योगी सरकार का तीसरा आम बजट आज  वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल पेश करेंगे। वित्त मंत्री ने बुधवार को विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में बजट भाषण को अंतिम रूप दिया। 2019-20 केआम बजट का आकार करीब पौने पांच लाख करोड़ रुपये के आसपास रहने का अनुमान है। चालू वित्त वर्ष की अपेक्षा बजट में करीब 14 प्रतिशत की वृद्धि हो सकती है कुंभ-वर्ष में पेश किए जा रहे प्रदेश के बजट का सबसे बड़ा लाभ बेटियों के हिस्से में आने की उम्मीद है।

सूत्रों के मुताबिक हस्पतिवार सुबह साढ़े नौ बजे मुख्यमंत्री योगी की अध्यक्षता वाली कैबिनेट की बैठक में बजट प्रस्तावों को मंजूरी दी जाएगी। इसके बाद वित्त मंत्री अग्रवाल 11 बजे विधानसभा में प्रदेश का अब तक का सबसे बड़ा बजट पेश करेंगे।सरकारबेटियों के जन्म से पढ़ाई और बालिग होने तक आर्थिक सहायता देने वाली ‘कन्या सुमंगला योजना’ का एलान कर सकती है। किसानों को किराए पर कृषि यंत्र उपलब्ध कराने और गन्ना मूल्य भुगतान केलिए बजट व्यवस्था के साथ युवाओं को जोड़ने के लिए युवक व महिला मंगल दलों के गठन व खेल प्रोत्साहन जैसी नई योजनाओं की उम्मीद है। सभी को आवास, स्वच्छता मिशन के तहत शौचालय और हर घर बिजली जैसे घर-घर लाभ देने वाले प्रोजेक्ट पर तवज्जो बरकरार रहेगा।
एक्सप्रेस-वे, एअरपोर्ट व मेट्रो के साथ सिंचाई, लोक निर्माण व बिजली से जुड़ी इन्फ्रास्ट्रक्चर विकास की परियोजनाओं पर फोकस बरकरार रहेगा।
आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के साथ गोरखपुर लिंक, बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे व डिफेंस कारीडोर के लिए आवश्यक बजट इंतजाम किए जाने के संकेत हैं। ये सभी प्रोजेक्ट सरकार की प्राथमिकता में हैं।
वित्त मंत्री प्रयाग कैबिनेट में घोषित गंगा एक्सप्रेस परियोजना का भी एलान कर सकते हैं। हालांकि इसके लिए बजट इंतजाम हो पाएगा, इस पर संशय है। वाराणसी, मेरठ, गोरखपुर, प्रयागराज, झांसी, कानपुर व आगरा से जुड़े मेट्रो प्रोजेक्ट को भी रफ्तार मिल सकती है। जेवर अंतर्राष्ट्रीय एअरपोर्ट के साथ अयोध्या, सहारनपुर, कुशीनगर व गाजीपुर में आरसीएम स्कीम के तहत एअरपोर्ट के लिए बजट मिलना तय माना जा रहा है।

वित्त मंत्री पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की स्मृति चिकित्सा विश्वविद्यालय की स्थापना के कार्य को रफ्तार देने केसाथ अलग-अलग आयुष व आयुर्वेदिक चिकित्सा विश्वविद्यालयों का एलान कर सकते हैं। पांच लाख रुपये की स्वास्थ्य बीमा से जुड़ी ‘आयुष्मान भारत’ योजना से छूटे लाभार्थियों के लिए मिनी आयुष्मान भारत योजना की घोषणा भी संभव है। केजीएमयू में स्पोर्ट्स मेडिसिन विभाग व स्पाइनल सेंटर की स्थापना का भी प्रस्ताव है।
सरकार अपने धार्मिक व सांस्कृतिक एजेंडे पर पूरे फोकस के साथ काम करती नजर आएगी। गाय, गंगा और गोबर्धन पर केंद्रित योजनाओं में गोवंश संरक्षण, बछिया नस्ल को बढ़ावा देने के साथ डेयरी से जुड़ी योजनाएं तो आ ही सकती हैं, अयोध्या, मथुरा, वाराणसी, चित्रकूट, वृंदावन व नैमिषारण्य से जुड़ी विकास परियोजनाओं को बजट में तवज्जो मिलने की उम्मीद है। अयोध्या में भगवान श्रीराम की विशालतम मूर्ति स्थापित करने के लिए स्थल विकास के साथ भगवान श्रीराम के नाम स्थापित होने वाले एअरपोर्ट का काम भी रफ्तार पाएगा।


A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *