Breaking News

भाजपा भगाओ देश बचाओ रैली में उमड़ा जनसैलाब,शरद व लालू गदगद

                       ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली 
पटना.यहां के गांधी मैदान में रविवार को आरजेडी की ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली में आरजेडी चीफ लालू यादव  यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव, जेडीयू नेता शरद यादव, अली अनवर, वेस्ट बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद समेत कई नेता रैली में मौजूद रहे ।
रैली में उमड़े विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए लालू ने कहा, “नीतीश कुमार का कोई उसूल और सिद्दांत नहीं है हम अपने वचन के पक्के हैं और गठबंधन की जीत के बाद नीतीश को सीएम बनाया था।” उन्होंने गठबंधन तोड़ने पर कहा, “ये नीतीश की आखिरी पलटी है और अब उन पर कोई भरोसा नहीं करेगा। अब लालू आएगा।” इस मौके पर शरद यादव ने कहा, “जिन्होंने गठबंधन तोड़ा उनसे कहना चाहता हूं कि देश के अंदर 125 करोड़ लोगों को गठबंधन बनेगा।” इससे पहले पूर्व डिप्टी सीएम रहे तेजस्वी यादव ने कहा, “जिन्होंने आपको धोखा दिया है, सबको पहचान लीजिए। जुमलेबाजों-धोखेबाजों को जब तक बाहर नहीं कर दूंगा, चैन से नहीं बैठूंगा।” रैली से पहले कुछ युवाओं ने रोड पर हवाई फायर किए। इन्हें अरेस्ट कर लिया गया। बता दें कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी और मायावती रैली में शामिल नहीं हुए। 

– लालू ने कहा, “मैं नीतीश कुमार को सीएम बनाना नहीं चाहता था। मैं इनका स्वभाव जानता था। मुलायम सिंह ने कहा कि महागठबंधन का नेता बना दीजिए तो मैं तैयार हुआ, लेकिन उनसे कहा कि इस बात की घोषणा आप ही करें। नीतीश मेरे घर आए थे। पत्नी और बेटों के सामने कहा कि मैं अब बूढ़ा हो गया हूं। अंतिम बार के लिए सीएम बना दीजिए। भविष्य तो इन बच्चों का है।”

– “सृजन घोटाले में आरोपी विपिन बीजेपी के किसान प्रकोष्ठ का अध्यक्ष था। उसके गिरिराज सिंह और शाहनवाज हुसैन जैसे कई नेताओं से संबंध थे। घोटाला सामने आया तो विपिन की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। नीतीश पर 302 का केस दर्ज है। उन्हें मालूम था कि हत्या का केस खुलने वाला है। इसलिए बीजेपी के साथ चले गए। नीतीश भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं। सृजन घोटाला में उनका जीरो टॉलरेंस कहां गया? शराबबंदी की खूब बाद करते हैं नीतीश, लेकिन सच्चाई यह है कि घर-घर में शराब मिल रही है। हमने ताड़ी बेचने देने को कहा था। लेकिन, इसने कहा कि नीरा बनाएंगे। कहां गया नीरा।”

– “नीतीश कुमार गजब के पलटूराम हैं। वह नरेंद्र मोदी व अमित शाह से मिलकर खेल कर रहे हैं। मेरी संपत्ति की बात करते हैं। अरे मेरे पास जो संपत्ति है, वह पब्लिक डोमेन में है। जांच में सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। बाढ़ आई नहीं लाई गई है। इंजीनियरों और ठेकेदारों ने पैसे बना लिए, लेकिन काम नहीं हुआ। इन लोगों पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए।”बताते चले कि

– लालू यादव के छोटे बेटे तेजस्वी पिछले एक माह से रैली को सफल बनाने में जुटे रहे। रैली में ज्यादा से ज्यादा लोग जुटे इसके लिए तेजस्वी ने 9 अगस्त से जन आक्रोश यात्रा शुरू की थी। पश्चिम चंपारण से शुरू की गई इस यात्रा का मकसद लोगों को यह बताना था कि नीतीश ने बीजेपी के साथ सरकार बनाकर जनता के फैसले का अपमान किया है।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

शिक्षा मित्रों ने कोविड 19 सर्वेक्षण डियुटी लगाने में की जा रही मनमानी पर जताया आक्रोश

राजधानी लखनऊ में  चिनहट ब्लाक के शिक्षामित्रों ने कोविड 19 सर्वेक्षण में मनमानी तरीके से …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *