Breaking News

केजीएमयू के ट्रॉमा में लगी आग, बेड छोड़ भागे मरीज दो की मौत, सीएम ने द‍िए जांच के आदेश

लखनऊ.केजीएमयू के ट्रॉमा सेंटर के डिजास्टर मैनेजमेंट वॉर्ड में शन‍िवार देर शाम अचानक आग लग गई। घटना के बाद अफरा-तरफी मच गई। मरीज क‍िसी तरह ग‍िरते-पड़ते बाहर भागे। जानकारी के अनुसार, इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई है। हालांक‍ि, प्रशासन की ओर से इसकी पुष्ट‍ि नहीं हुई है।  फायरब्रिगेड की करीब डेढ़ दर्जन गाड़‍ियां मौके पर पहुंची और देर रात तक घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। सूचना म‍िलते ही डीएम कौशल राज शर्मा, एसएसपी दीपक कुमार सह‍ित सभी बड़े अध‍िकारी मौके पर पहुंच गए। सीएम योगी ने घटना को संज्ञान में लेते हुए जांच के आदेश दे द‍िए हैं। वहीं, गृह मंत्री राजनाथ स‍िंह ने हर संभव सहायता करने का आश्वासन द‍िया है।
डॉ. एसएन शंखवार ने बताया, आग ट्रॉमा सेंटर के दूसरे और तीसरे फ्लोर पर लगी है। आग लगने की वजह शॉर्ट-सर्क‍िट बताई जा रही है।
-आग की सूचना म‍िलते ही मरीजों को बाहर न‍िकाला गया। करीब 150 मरीजों को 8 अलग-अलग सरकारी हॉस्प‍िटल में भर्ती कराया गया। कोई कैजुअल्टी नहीं हुई है। हालांक‍ि, हॉस्प‍िटल को काफी नुकसान पहुंचा है।
-वहीं, आईसीयू के तीन अलग-अलग वार्ड में कुल 43 मरीज थे। आईसीयू यूनिट में 6 मरीज, नॉर्मल आईसीयू यूनिट में 12 और नॉमर्ल यूनिट में 25 मरीज थे जिनको शताब्दी वार्ड, चिल्ड्रन और गांधी वार्ड में एडमिट कराया गया है।
-बताया जाता है क‍ि ट्रॉमा सेंटर में करीब 300 मरीज भर्ती थे, ज‍िसमें से 37 वेट‍िंलेटर पर थे। 100 से ज्यादा मरीज को शताब्दी मेड‍िकल कॉलेज में एडम‍िट कराया गया है। वहीं, ट्रॉमा सेटर में पार्क‍िंग में नॉर्मल मरीजों का बेड श‍िफ्ट क‍िए गए हैं। इसके अलावा गांधी वार्ड समेत कई प्राइवेट यूनिट में शिफ्ट कराया गया है।
-घटना की सूचना म‍िलते ही डीएम और एसएसपी समेत कई मंत्री मरीजों को देखने पहुंचे गए। अपर मुख्य सचिव चिकित्सा स्वास्थ्य अनिता भटनागर जैन ने कहा क‍ि इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है।
-हालांक‍ि, इमरजेंसी में रखे ऑक्सीजन के स‍िलेंडर, इलेक्ट्रॉन‍िक उपकरण सह‍ित मेड‍िकल की कई इमरजेंसी में यूज होने वाली मशीन समेत लाखों का नुकसान होना बताया जा रहा है।
घटना की सूचना म‍िलते ही सीएम ने अफसरों को द‍िए ये आदेश
-ट्रॉमा सेंटर में लगी आग की घटना को सीएम योगी  ने संज्ञान लेते हुए सभी वर‍िष्ठ अध‍िकार‍ियों को मौके पर पहुंचने के न‍िर्देश द‍िए हैं।
-उन्होंने कहा है क‍ि आग बुझाने और स्थिति को सामान्य करने के ल‍िए उच‍ित करवाई करें। अफरा-तफरी न मचे और दाख‍िल मरीजों की वैकल्पिक व्यवस्था सुनिश्चित करें।
-सीएम ने मंडलायुक्त लखनऊ को 3 दिन में घटना की जांच करने के निर्देश दिए हैं और दोषी अधिकारियों के ख‍िलाफ एक्शन लेने को कहा है।
-इस प्रकार की घटना की भविष्य में पुनरावृत्ति न हो, इसके ल‍िए कड़ी कार्रवाई करने को न‍िर्देश द‍िए हैं।
  पहले भी केजीएमयू में लग चुकी है आग
-केजीएमयू में आग लगने का यह मामला पहला नहीं है। इसे पहले भी कई बार आग लग चुकी है। फिजियोलॉजी विभाग की प्रयोगशाला में इसी साल मई महीने में आग लगी थी। उस समय भी एअर कंडीशन में शॉर्ट-सर्किट से आग लगने की आशंका जाहिर की गई थी।
-इसके अलावा केजीएमयू के बाल रोग विभाग, पैथोलॉजी, पैराप्लीजिया विभाग, गांधी समेत दूसरे वार्डों में आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं। इसके बावजूद केजीएमयू प्रशासन पुख्ता इंतजाम नहीं कर पाए।

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

विकास के साथ हर छोटे-बड़े अपराध में शामिल भाई की भी ना ही हिस्ट्रीसीट खुली न ही अपराधियों की सूची में नाम डाला गया,जांच में हुआ खुलासा

दहशतगर्द विकास दुबे का सगा भाई 16 साल से जमानत पर बाहर है। वह विकास …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *