Breaking News

भगवान का डर… एक चोर ने हनुमानजी का मुकुट उठाया तो अन्य साथियों ने मना कर दिया, जाते-जाते हनुमान जी के पैर छुए

  • नसैनी से गुंबद फिर लेजम के सहारे गर्भगृह में उतरे चोरों ने 8 दान पात्रों के ताले तोड़े

दैनिक भास्कर

Jun 20, 2020, 11:00 AM IST

गुना. शहर के सबसे प्रसिद्ध स्थल हनुमान टेकरी मंदिर में चोरों ने धावा बोलकर 8 दान पात्र से रुपए उड़ा दिए। यह वारदात गुरुवार-शुक्रवार दरमियानी रात 1.30 बजे की है। बदमाशों की संख्या 4 से 5 है, हालांकि उनकी सभी हरकत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। गर्भगृह तक चोरों के पहुंचने से यहां तैनात गनर सुरक्षा व्यवस्था भी सवालों के घेरे में आ गई। बदमाशों का एक साथी मंदिर के पीछे रखी एक लोहे की नसैनी के सहारे दीवार तक चढ़ा फिर सीढ़ी से मंदिर के गुम्बद तक पहुंचे । इसके बाद एक प्लास्टिक की लेजम के सहारे गर्भगृह तक पहुंचा। अन्य साथियों को अंदर बुलाने दरवाजा खोल दिया।

आरोपी 20 से 25 मिनट तक रुके और 8 दान पात्र के ताले और कुंदे तोड़कर इसमें रखी दान राशि उड़ा दी। एक बदमाश ने तो हनुमान जी का मुकुट भी उतारने का प्रयास किया, लेकिन अन्य साथियों का इशारा मिलने पर इसे नहीं चुराया। एसपी ने आरोपियों की गिरफ्तारी पर 10 हजार और पूर्व नपा अध्यक्ष राजेंद्र सिंह सलूजा ने भी 11 हजार रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

गर्भगृह में ऐसे दाखिल हुए : चोर टेकरी मंदिर के पीछे वाले हिस्से में पहुंचे। यहां पर एक नसैनी के सहारे एक बदमाश ऊपर चढ़ा और गुम्बद तक पहुंचा, जिसका राेशनदान गर्भगृह तक तरफ खुलता है। खिड़की में लगे कांच के स्क्रू खोले, फिर वहां रखी पानी सप्लाई के लिए लगी लेजम से नीचे उतरा और अंदर से एक दरवाजा खोला।

दान पेटी में पैसा कितना, हिसाब नहीं : लॉकडाउन लगने के बाद से ही दान पेटी नहीं खोली गईं। 22 अप्रैल के बाद से जो भी राशि पेटी में आई, वह उसी में रही। टेकरी ट्रस्ट एवं समिति के प्रवक्ता राजेश अग्रवाल ने बताया कि 40 से 50 हजार रुपए के लगभग राशि पेटियों में होगी।
सुरक्षा पर सवाल : इस मंदिर स्थल पर वर्ष 2013 में भी चोरी हो चुकी है। इस वजह से टेकरी समिति ने निजी एजेंसी से यहां पर 2 गार्ड तैनात कराएं हैं। इसमें एक गनर है। घटना के समय दोनों गार्ड सोने के लिए नीचे चले गए थे।

तिजोरी के पास फोरेंसिंक जांच करते एक्सपर्ट।

चोरों को पकड़ने के लिए इस तरह काम करेगा प्रशासनिक तंत्र

  • सीसीटीवी कैमरे : मंदिर में 6 सीसीटीवी कैमरे में चोरों की हरकत का डाटा पुलिस को मिला है। इसी आधार पर उनकी पहचान की जा रही है। शहर में मुख्य चौराहे पर लगे कैमरे खंगाले जा रहे हैं।
  • फोरेंसिंक जांच : घटना स्थल पर एफएसएल अधिकारी आरसी अहिरवार ने भी निरीक्षण किया। इस दौरान पाया गया है कि बदमाश पहले से स्थल को देख चुके थे और वह चोरी करने की ताक में ही थे। 
  • फिंगर प्रिंट: फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट अरविंद शर्मा ने भी घटना स्थल देखा, 6 जगह पर आरोपियों की फिंगर प्रिंट उठाए गए हैं। गर्भगृह के अलावा दान पेटियों पर भी उंगलियों के निशान मिले हैं। पुलिस के पास बदमाशों के फिंगर प्रिंट का डाटा होता है, घटना स्थल से मिले इन प्रिंट से इनका मिलान कराया जाएगा। अगर किसी के प्रिंट मिलते हैं तो रिकॉर्ड से यह पता चल जाएगा कि कौन बदमाश है।

Source link

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

कांग्रेस के कुणाल के बाद अब भाजपा विधायक ओमप्रकाश सकलेचा संक्रमित, राज्यसभा में वोट करने वाले विधायक हॉस्पिटल पहुंचे, टेस्ट कराया

एक दिन पहले विधानसभा चुनाव में वोट किया था, सकलेचा निजी अस्पताल में भर्ती जानकारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *