Breaking News
जानिए, कौन हैं अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के पति,  19 साल की उम्र में गई थीं US 

जानिए, कौन हैं अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के पति,  19 साल की उम्र में गई थीं US 

न्यूयॉर्क (आईएएनएस)। दिसंबर 2020 में, ओपरा मैगजीन ने अमेरिका के पहले सेकेंड जेंटलमैन डग एमहॉफ को द अल्टीमेट हाइप मैन, हम सभी, जैसा कि हम सब साथी के रूप में डिजर्व करते हैं के रूप में वर्णित किया, जिस तरह से उन्होंने पत्नी कमला हैरिस के करियर को उड़ान भरने में मदद की, इससे इस बात में कोई शक नहीं कि वह उनके अल्टीमेट हाइप मैन हैं।उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेने जा रहीं कमला के पति एमहॉफ अपनी नई भूमिका में एक बैरियर ब्रेक्र होंगे। एमहॉफ की यह दूसरी शादी है, उन्होंने 2014 में कमला से शादी की थी। 

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस विषय पर संक्षेप में बात की, जब उन्होंने हैरिस का नाम उपराष्ट्रपति पद के लिए चुना, लेकिन उनकी टिप्पणी टैक्नीकैलिटीज के बारे में थी। इस तथ्य के बारे में कि एमहॉफ पहले सेकेंड जेंटलमैन होंगे, जिन्हें अमेरिका जानेगा।

कमला और उनके पति के बीच रिश्तों में ऐसी गार्महट है कि दोनों सार्वजनिक डोमेन में इसे साझा करने को लेकर काफी सहज महसूस करते हैं। 7 नवंबर, 2020 को एमहॉफ की पिक्चर पोस्ट को ही ले लीजिए। उन्होंने हरे घास के मैदान की पृष्ठभूमि में कमला को गले लगाए तस्वीर पोस्ट की साथ में दो हॉर्ट और दो अमेरिकी झंडे वाली इमोजी भी पोस्ट कर लिखा, मुझे तुमपर बहुत गर्व है।

एमहॉफ दूसरा (या पहला) जीवनसाथी बनने वाले पहले यहूदी व्यक्ति भी होंगे। हैरिस और एमहॉफ की राष्ट्रपति या उपराष्ट्रपति पद के लिए पहली अंतर-नस्लीय जोड़ी होगी, और जिल बाइडेन की तरह एमहॉफ पढ़ाएंगे, जबकि हैरिस उपराष्ट्रपति पद पर काबिज होकर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करेंगी।

एमहॉफ जॉर्जटाउन विश्वविद्यालय में आगामी वसंत सेमेस्टर में एंटरटेनमेंट लॉ विवाद पर व्याख्यान के साथ इसकी शुरुआत करेंगे। इसके अतिरिक्त, एमहॉफ प्रतिष्ठित जॉर्जटाउन लॉज इंस्टीट्यूट फॉर टेक्नोलॉजी लॉ एंड पॉलिसी में एक प्रतिष्ठित फेलो के रूप में काम करेंगे। साल 2020 के चुनाव के ठीक पहले एमहॉफ ने इंटरनेशनल लॉ फर्म डीएलए पाइपर की पार्टनरशिप छोड़ने की घोषणा की थी।

कमला हैरिस : एक माहिर मुसाफिर के व्हाइट हाउस पहुंचने का सफर

 अमेरिका की नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ओकलैंड, कैलिफोर्निया, अर्बाना शैम्पेन, इलिनॉय, बर्कले, क्यूबेक, कनाडा, वाशिंगटन, डी.सी. के बाद दो बार कैलिफोर्निया का सफर कर चुकी हैं, और अब व्हाइट हाउस पहुंचने जा रही हैं। जब कमला हैरिस आखिरकार देश के बेहद प्रभावशाली ओहदे पर पहुंची हैं तो यह अमेरिका में उनके लंबे सफर का एक परमोत्कर्ष है।

कमला हैरिस ने अपने संस्मरण द ट्रथ्स वी होल्ड में लिखा है, मैं 12 साल की थी और फरवरी में कैलिफोर्निया से दूर स्कूल के साल के मध्य में, 12 फीट बर्फ से ढके एक फ्रांसीसी भाषी विदेशी शहर में जाने का विचार परेशान कर देने वाला था।

अमेरिका की पहली महिला उपराष्ट्रपति के रूप में हैरिस का आगमन पहियों की कहानी है, जो रुक-रुक कर चलती है, और नई दिशाओं में निकलती है। सबसे पहले, उनके माता-पिता अकादमिक उपलब्धि की तलाश में आए और फिर हैरिस ने अपने राजनीतिक करियर में चार चांद लगाया।

उन्होंने 2019 के एक साक्षात्कार के दौरान पत्रकार डैना गुडइयर को बताया था, मेरे बचपन की बहुत ज्वलंत स्मृति मेफ्लावर ट्रक थी। मेफ्लावर अमेरिका की सबसे बड़ी पूर्ण सेवा वाली मूविंग कंपनियों में से एक है। हैरिस ने गुडइयर से कहा, हम बहुत आगे बढ़ गए। लेकिन अमेरिकी शहरों के बीच हैरिस की यात्रा लगभग एक महिला यात्री के बाद आता है और हैं उनकी मां श्यामला गोपालन, जो तमिलनाडु की हैं। 

जब श्यामला 1958 में अमेरिका आई थीं तो तब वह 19 साल की थीं और अपने परिवार से विदेश में पढ़ने जाने वाली पहली शख्स थीं। उन्होंने एक ऐसी यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया, जिसे उन्होंने पहले कभी नहीं देखा था, एक ऐसे देश में थीं, जहां पहले वह कभी नहीं गई थीं।

कमला के पिता डोनाल्ड हैरिस का भी कुछ ऐसा ही सफर रहा था। वर्ष 1961 में कमला के माता-पिता से मुलाकात हुई और 1963 में शादी हुई। कुल मिलाकर कमला हैरिस की कहानी एक मंजी हुई यात्री की है। जब वह उपराष्ट्रपति पद की शपथ लेंगी, तब यह उनकी मां की मातृभूमि मद्रास और पिता की मातृभूमि ब्राउन्स टाउन (जमैका) के लिए एक सर्वश्रेष्ठ उपहार होगा।

.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.

.

...
know about the First Lady of the United States of America kamala harris
. .

.

Source link

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

नाइजीरिया: अगवा की गईं 279 स्कूली छात्राएं रिहा, अज्ञात बंदूकधारियों ने किया था किडनैप

नाइजीरिया: अगवा की गईं 279 स्कूली छात्राएं रिहा, अज्ञात बंदूकधारियों ने किया था किडनैप

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। बीते सप्ताह नाइजीरिया के जाम्फ्रा में अगवा स्कूली छात्राओं को रिहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *