Breaking News

चाइनीज ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए, टिकटॉक और यूसी ब्राउजर समेत 50 चीनी ऐप्स से सुरक्षा को खतरा का दावा

  • यह दावा किया गया है कि कुछ चीनी ऐप देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन सकते हैं
  • चाइनीज ऐप्स को चलाने वाली कंपनियां डेटा के साथ छेड़छाड़ की बातों को खारिज करती रहती हैं

दैनिक भास्कर

Jun 19, 2020, 09:28 PM IST

नई दिल्ली. भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने टिकटॉक  (TikTok), वीचैट (Wechat), शेयरइट (Shareit), यूसी ब्राउजर (UC Browser), ब्यूटी प्लस (Beauty Plus) समेत 50 चीनी ऐप देश की सुरक्षा के लिए खतरा बताया है। इतना ही नहीं महिलाओं के लिए शॉपिंग ऐप शेन (Shien) और क्लब फैक्टरी (Club Factory) को भी सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक कहा गया है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक कुछ चीनी ऐप को बंद करने को लेकर सरकार के स्तर पर बातचीत चल रही है। रिपोर्ट में ऐसा दावा किया गया है कि कुछ चीनी ऐप देश की सुरक्षा के लिए खतरा बन सकते हैं। ऐसे में सरकार से इन मोबाइल एप्लिकेशन को ब्लॉक करने या फिर भारतीयों को इन ऐप के इस्तेमाल ना करने की सलाह दी गई है। हालांकि, सरकार ने चीनी एप पर प्रतिबंध लगाने की खबरों से इनकार किया है। सरकार के मुताबिक, इस तरह का कोई निर्देश जारी नहीं हुआ है। 

चीनी ऐप्स से की जा सकती है जासूसी  

रिपोर्ट के मुताबिक इन चीनी ऐप्स के जरिए देश और सुरक्षा से संबंधित अहम डेटा भारत के बाहर भेजा जा रहा है। फोन के लोकेशन और फोन में इस्तेमाल होने वाले सभी ऐप्स अहम जानकारियों को अपने पास स्टोर करते हैं। ऐसे में जितने भी भारतीय ये ऐप इस्तेमाल कर रहे हैं उनका हर डेटा ये कंपनियां अपने पास रखती हैं। इससे संबंधित जानकार बताते हैं कि चीन की हर कंपनी को अपना डेटा चीनी सरकार के साथ साझा करना अनिवार्य है। चीनी खुफिया एजेंसियां और चीनी सेना इन्हीं डेटा को लेकर देश पर हमला करने की रणनीति तैयार कर सकती हैं। कई मामलों में ऐसा हो भी रहा होगा लेकिन चीनी सरकार इसकी आधिकारिक पुष्टि कभी नहीं करती है।

50 चाइनीज ऐप्स जिन्हें खुफिया एजेंसियों ने बताया खतरनाक – 

  • टिक-टॉक (TikTok) 
  • हेलो (Helo)
  • यूसी ब्राउजर (UC Browser)
  • यूसी न्यूज (UC News)
  • शेयर इट (Sharit)
  • लाइकी (Likee)
  • 360 सिक्योरिटी (360 Security)
  • न्यूज डॉग (NewsDog)
  • शिन (SHEIN) 
  • विगो वीडियो (Vigo Video)
  • वी चैट (WeChat)
  • वीबो (Weibo)
  • जूम (ZOOM)
  • वीबो लाइव (Vibo live)
  • क्लब फैक्टरी (Club Factory)
  • शेंडर  (Xender)
  • ब्यूटी प्लस (BeautyPlus)
  • क्वाई (Kwai) 
  • रोमवी (ROMWE)
  • फोटो वंडर (Photo Wonder)
  • एपीयूएस ब्राउजर (APUS Browser)
  • वीवा वीडियो (VivaVideo)
  • क्यूयू वीडियो इंक (QU Video Inc)
  • परफेक्ट कोर्प (Perfect Corp)
  • सीएम ब्राउजर (CM Browser)
  • वायरस क्लीनर (Virus Cleaner)
  • हाई सिक्योरिटी लैब (Hi Security Lab)
  • एमआई कम्यूनिटी (Mi Community)
  • डीयू रिकाॅर्डर (DU recorder)
  • यूकैम मेकअप (YouCam Makeup) 
  • एमआई स्टोर (Mi Store) 
  • डीयू बैटरी सेवर (DU Battery Saver)
  • डीयू ब्राउजर (DU Browser)
  • डीयू क्लीनर (DU Cleaner)
  • डीयू प्राइवेसी (DU Privacy)
  • क्लीन मास्टर (Clean Master) 
  • बैदू ट्रांसलेट (Baidu Translate) 
  • बैदू मैप वंडर कैमरा (Baidu Map Wonder Camera)
  • ईएस फाइल एक्पलोरर (ES File Explorer)
  • क्यूक्यू इंटरनेशनल (QQ International)
  • क्यूक्यू लाॅन्चर (QQ Launcher)
  • क्यूक्यू सिक्योरिटी सेंटर (QQ Security Centre)
  • क्यूक्यू प्लेयर (QQ Player)
  • क्यूक्यू म्यूजिक-क्यूक्यू मेल (QQ Music QQ Mail)
  • क्यूक्यू न्यूज फीड (QQ NewsFeed)
  • वी सिंक (WeSync)
  • सेल्फी सिटी (SelfieCity)
  • क्लैश ऑफ किंग्स मेल मास्टर (Clash of Kings Mail Master)
  • एमआई वीडियो काॅल-शाओमी (Mi Video call-Xiaomi)
  • पैरेलल स्पेस (Parallel Space)

इन ऐप्स को चलाने वाली कंपनियां डेटा के साथ छेड़छाड़ की बातों को सिरे से खारिज करती रहती हैं। लेकिन चीनी सरकार को अपना डेटा साझा करने की बात पर कोई कंपनी बात नहीं करती हैं। 

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

Dainik Bhaskar Hindi

Micromax ने सब-ब्रांड ‘In’ के साथ करेगी वापिसी, टीजर किया जारी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। भारतीय स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Micromax (माइक्रोमैक्स) जल्द एक नए ब्राण्ड के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *