Breaking News

गोरखपुर चिडि़याघर के काम में देरी पर अफसर नाराज, चीतल, सांभर और काला हिरण के बाड़े अधूरे

शहीद अशफाक उल्लाह खॉ प्राणि उद्यान का निरीक्षण करने आए प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन्य जीव सुनील पाण्डेय ने चीतल, काला हिरण और सांभर का बाड़ा अधूरा देख नाराजगी जताई। 

उन्होंने राजकीय निर्माण निगम के अधिकारियों से कहा कि उनके दो निरीक्षण के दौरान तीनों बाड़ों में कोई परिवर्तन नहीं दिखा। कहा कि ठेकेदार नहीं सुनता तो उस पर कड़ा कदम उठाए। तकरीबन तीन घंटे तक उन्होंने प्राणि उद्यान में बनाए जा रहे 33 बाड़ों में एक-एक बाडा का निरीक्षण किया। सभी के इनरीचमेंट के काम को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें:Surya grahan 2020: 21 जून के सूर्य ग्रहण का पड़ेगा सभी राशियों पर

शुक्रवार को निरीक्षण के दौरान अतिरिक्त अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन्य संरक्षक इको टूरिज्म संजय कुमार श्रीवास्तव, प्राणी उद्यान के निदेशक एवं मुख्य वन संरक्षक गोरखपुर पूर्वी अंजनी कुमार आचार्य, डीएफओ अविनाश कुमार, पशु चिकित्सक डॉ योगेश प्रताप सिंह, सहायक वन संरक्षक संजय कुमार मल्ल, क्षेत्रीय वन अधिकारी सुनील कुमार राव, वन दरोगा चंद्रभूषण पासवान वन्य जीव रक्षक एस कुमार गुप्ता एवं नीरज कुमार, राजकीय निर्माण निगम के जीएम एससी राय, प्रोजेक्ट मैनेजर डीबी सिंह एवं प्रमोद यादव मौजूद रहे। 

उन्होंने प्राणि उद्यान में जल निकासी, 4डी आडिटोरिम के निर्माण के कार्यो का जाएजा लिया। इलेक्ट्रिक संबंधी कार्यो की धीमी रफ्तार पर भी उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। प्राणि उद्यान के निदेशक अंजनी कुमार आचार्य को निर्देश दिया कि वे नियमित रूप से प्राणि उद्यान का निरीक्षण करें। कार्यो में किसी तरह का विलम्ब नहीं होना चाहिए। सबसे प्राथमिकता में वन्य जीव से जुड़े कार्यो पर दिया जाना चाहिए। दूसरे नम्बर पर पयर्टकों को मिलने वाली सुविधाओं पर। 

यह भी पढ़ें:अब गोरखपुर से दिल्‍ली के लिए रोज इंडिगो की फ्लाइट, जानिए अन्‍य उड़ानों का शेड्यूल

30 जुलाई तक सीजेड का दौरा संभावित, तैयारी करें
एक-एक बाड़ों का बारीकी से निरीक्षण करते हुए प्रधान मुख्य वन संरक्षक वन्य जीव सुनील पाण्डेय ने कहा कि केंद्रीय प्राणि उद्यान प्राधिकरण की टीम जुलाई के आखिरी में प्राणि उद्यान का दौरा कर सकती है। इसलिए उनके दौरे के पूर्व वन्य जीव एवं पयर्टकों की सुख-सुविधाएं से जुड़े सभी कार्य पूर्ण कर लिए जाए। ताकि प्राणि उद्यान के शुरू करने की अनुमति मिलने में कोई बाधा उत्पन्न न हो। अनुमति मिलने के बाद ही प्राणियों को लाने का काम शुरू होगा। 

पौधरोपण के काम जल्द पूर्ण करें
पीसीसीएफ वन्य जीव ने डीएफओ अविनाश कुमार को निर्देश दिए कि वे प्राणि उद्यान में पौधरोपण के काम को निर्धारित अवधि में पूर्ण करें। प्राणि उद्यान में अब तक 3000 से ज्यादा पौधों को रोपण किया जा चुका है। डीएफओ ने आश्वस्त किया कि उनकी तैयारिया पूर्ण हैं। जुलाई माह में ही वे अपने निर्धारित लक्ष्य की पूर्ति कर लेंगे। 



Source link

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

सिद्धार्थनगर में मिले कोरोना के दो नए मरीज, जिले में कोविड-19 के 28 एक्टिव केस 

सिद्धार्थनगर में शनिवार को कोरोना के तीन नए मरीज मिले हैं। इसमें नौगढ़ क्षेत्र के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *