Breaking News

कॉलेजों के फाइनल सेमेस्टर की परीक्षाएं जुलाई में, 7 अगस्त तक रिजल्ट घाेषित करने के निर्देश

  • प्रिंसिपल बोले- चर्चा सकारात्मक रही, जल्द जारी हो सकती है एग्जाम डेटशीट

दैनिक भास्कर

Jun 20, 2020, 10:53 AM IST

अम्बाला. कुरुक्षेत्र यूनिवर्सिटी ने सभी फाइनल सेमेस्टर के एग्जाम 7 जुलाई से कराने का निर्णय ले चुका है। इस संबंध में बीते सोमवार को यूनिवर्सिटी वाइस चांसलर नीता खन्ना की अध्यक्षता में वाइस चांसलर दफ्तर में बैठक हुई थी। इसमें वाइस चांसलर समेत विभिन्न एजुकेशन के डीन समेत 15 लोगों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा बैठक में एग्जाम कराने के तौर-तरीके को लेकर भी चर्चा हुई। हालांकि अभी यूनिवर्सिटी ने एग्जाम को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है।

उल्लेखनीय है कि हरियाणा सरकार ने 12 जून को कॉलेजों के एग्जाम को लेकर एक दिशा-निर्देश जारी किया था। इसके मुताबिक, उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा से जुड़े सभी विषयों के एग्जाम 1 से 31 जुलाई के बीच कराने और परीक्षा परिणाम को 7 अगस्त तक घोषित करने का निर्देश दिया गया था। एसडी कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. राजेंद्र सिंह ने बताया कि बैठक पर एग्जाम को लेकर सकारात्मक चर्चा हुई। जल्द ही एग्जाम की घोषणा हो जाएगी।

सभी स्टेक होल्डर को न बुलाने पर जताई नाराजगी
जीएमएन कॉलेज के प्रिंसिपल व हरियाणा प्रिंसिपल एसोसिएशन के प्रधान डॉ. राजपाल सिंह ने एग्जाम और उसे कराने को लेकर सभी स्टेक होल्डर को न बुलाने पर नाराजगी जताई है। उन्होंने बताया कि निदेशालय ने परीक्षा के दौरान प्रदेश के सभी होस्टल को बंद करने का निर्देश दिया है। जबकि एग्जाम देने के लिए अन्य प्रदेशों से भी छात्र हरियाणा में आते हैं। कोरोना काल में उनके परीक्षा केंद्र के नजदीक ठहरने की व्यवस्था मुश्किल हो जाएगी।

साथ ही परिवहन सेवाएं भी सुचारू रूप से चल नहीं पा रही हैं। इसलिए उनका आना भी मुश्किल हो जाएगा अगर आते हैं तो प्रदेश में कोरोना संक्रमण का खतरा भी बना रहता है। उन्होंने बताया कि अकेले अम्बाला में करीब 2 हजार से ज्यादा छात्र एग्जाम देंगे।

तीन की बजाय दो घंटे की हो सकती है परीक्षा

  • प्रश्न पत्र का समय घटा कर दो घंटे कर दिया गया है। इसमें पांच के बजाए चार प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी प्रश्नों के अंक समान होंगे।
  • एग्जाम सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक होगा। वहीं, इवनिंग में दोपहर 2 बजे से 4 बजे तक का समय होगा।
  • लॉ और फार्मेसी से जुड़ी परीक्षाओं के मामले में नियामक निकायों के दिशा-निर्देशों का पालन किया जाएगा।
  • सोशल डिस्टेंसिंग, सेनिटाइजिंग अादि नियमों की पालना करते हुए परंपरागत रूप से परीक्षा होगी।
  • परीक्षा केंद्रों में अन्वेषक-छात्रों का अनुपात 1 के मुकाबले 20 होगा।
  • छात्रों को परीक्षा केंद्रों में मास्क पहनने होंगे। साथ ही पीने के पानी की ट्रांसपेरेंट बोतल साथ लानी होगी।

अंक सुधार के लिए अन्य राज्यों के छात्र बाद में दे सकते हैं एग्जाम : प्रदेश में दूसरे राज्यों से आए छात्रों का परीक्षा परिणाम पहले हुए एग्जाम के औसत और इंटरनल असेसमेंट पर तैयार किया जाएगा। ऐसे छात्र बाद में ग्रेड या अंक सुधार के लिए कोविड-19 से जुड़े हालात सामान्य होने पर दोबारा परीक्षा दे सकते हैं।

Source link

About Jan Jagran Media Manch

A group of people who Fight Against Corruption.

Check Also

फाइनल ईयर व सेमेस्टर वालों की ऑड-ईवन से होगी परीक्षा, डेट सीट जारी करने वाली हरियाणा की पहली यूनिवर्सिटी

केंद्रीय गाइडलाइन पर तैयार किया एसओपी, एक बेंच छोड़कर परीक्षार्थियों को बैठाएंगे सिर्फ फाइनल ईयर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *