Search
Saturday 17 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

कहां गए 15 हजार करोड़ ?

विश्वजीत सेन-

 शारदा चिट फंड घोटाला 25 हजार करोड़ रुपये का है। लगभग 10 हजार करोड़ रुपए का हिसाब मिलता है। कहां गया बाकी 15 हजार करोड़?
सी.बी.आई जांच टीम को यह सवाल उतावला कर रहा है। यही वजह है कि मदन मित्रा से लगातार जिरह किया जा रहा है। लेकिन अभी तक सुराग का मिलना बाकी है।
पर सी.बी.आई जांच टीम का अनुमान है कि वह रहस्य की तह तक पहुंचेगी। प्रथम दृष्टया यह अनुमान किया जाता है कि राशि मदन मित्रा के पारिवारिक सदस्यों के पास गई, फिर वहां से दल के विभिन्न खाते में चली गई। यही वजह है कि सी.बी.आई मदन मित्रा के बैंक खातों को खंगाल रही है।
प्रत्यक्ष साक्ष्य मिले न मिले यह बात अब सर्वमान्य हो चुकी है कि राह का अन्त कालीघाट में होता है, जहां ममता बनर्जी का निवास स्थान है। वहां ममता के भाई-भतीजों द्वारा बड़ी-बड़ी सम्पत्तियों की खरीद (आय के साधन के बगैर) कुछ कहती है। लेकिन चूंकि ममता को जिरह करने की अनुमति सी.बी.आई को नहीं है, इसलिए अभी इसपर कुछ न कहना ही उचित होगा।
हवा में बहुत सी बातें तैर रहीं हैं। मदन मित्रा की उक्ति कि ”डूबना है तो सब को लेकर डूबूंगा। अकेले डूबनेवाला नहीं हूँ मैं।“ व्याख्या करती है कि मदन मित्रा को छुड़वाने के लिए ममता बनर्जी की बेतहाशा दौड़ का रहस्य क्या है।


A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *