Search
Saturday 17 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

हम दिल्ली को हिन्दुस्तान का दिल बनाएंगें-किरणवेदी

हम दिल्ली को हिन्दुस्तान का दिल बनाएंगें-किरणवेदी

टीम अन्ना की महत्वपूर्ण सदस्य रहीं देश की पहली महिला आईपीएस अधिकारी किरण बेदी भाजपा में शामिल हो गई। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी में उनका स्वागत करते हुए कहा कि वह दिल्ली विधानसभा का आगामी चुनाव लड़ेंगी, लेकिन मुख्यमंत्री के बारे में निर्णय भाजपा संसदीय बोर्ड करेगा।
यहां भाजपा मुख्यालय में शाह, केन्द्रीय मंत्री अरूण जेटली और हर्ष वर्धन की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ग्रहण करते हुए बेदी ने कहा कि उनके पास 40 साल का प्रशासनिक अनुभव है और वह इस अनुभव को दिल्ली को भेंट करने आई हैं।
बेदी ने कहा, ‘मैं दिल्ली को अब पूरा समय दूंगी। दिल्ली को एक मजबूत और स्थिर सरकार की जरूरत है। दिल्ली में बहुत सी बुराइयां हैं। मुझे अनुभव है। मुझे काम करना और काम करवाना आता है। हम दिल्ली को हिन्दुस्तान का दिल बनाएंगे।’ उन्होंने कहा कि वह अब ‘मिशन मोड’ में हैं और अपनी पूरी उर्जा देश को समर्पित करेंगी। इसके लिए भाजपा द्वारा अवसर दिए जाने पर उन्होंने पार्टी का धन्यवाद किया।
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बेदी को दिल्ली का मुख्यमंत्री पद का पार्टी का उम्मीदवार बनाए जाने के सवालों का सीधा जवाब नहीं देते हुए कहा, ‘किरण बेदी निश्चित तौर पर चुनाव लड़ेंगी लेकिन मुख्यमंत्री कौन होगा, इसका फैसला भाजपा संसदीय बोर्ड करेगा। ..थोड़ी राह देखिए। आज इतना ही काफी है कि वह भाजपा से जुड़ी हैं और चुनाव लड़ेंगी।’ उनसे सवाल किया गया था कि क्या बेदी भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार होंगी। यह पूछे जाने पर कि उन्हें कहां से टिकट दिया जाएगा, शाह ने कहा, यह तय किया जाना अभी बाकी है।
भाजपा के इस कदम को सात फरवरी को होने जा रहे दिल्ली विधानसभा चुनाव में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी को घेरने के रूप में देखा जा रहा है। बेदी और केजरीवाल दोनों ही अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन की ‘टीम’ के प्रमुख चेहरे रहे हैं। बेदी को पार्टी ने औपचारिक रूप से मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाने से तो फिलहाल इंकार किया है लेकिन उन्हें इस पद के प्रमुख दावेदारों में शामिल होने का संकेत देते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ‘भाजपा के सभी कार्यकर्ता मुख्यमंत्री बनने की क्षमता रखते हैं और अब किरण बेदी भी भाजपा की कार्यकर्ता हैं।’
यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें केजरीवाल की टक्कर में लाया गया है, शाह ने कहा, ‘किसी की टक्कर में उन्हें नहीं लाया गया है, न वह किसी की टक्कर में आई हैं। वह भाजपा के एजेंडे को जानकर, अव्यवस्था दूर करने और जनता को अच्छा प्रशासन देने के लिए पार्टी में आई हैं।’ उन्होंने कहा कि बेदी के आने से ‘दिल्ली भाजपा को बहुत मजबूती मिलेगी और इससे दिल्ली के चुनाव में जनता की अपेक्षाओं की पूर्ति के लिए बेदी के रूप में एक अच्छा साझीदार मिलेगा और आने वाले दिनों में नयी सरकार बनने में उनका रचनात्मक योगदान बहुत काम आएगा।’ उधर बेदी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफों के कसीदे काढ़ते हुए कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री के प्रेरणादायक नेतृत्व के कारण भाजपा में आई हूं। अपनी नेतृत्व क्षमता से वह करोड़ों को बदल चुके हैं और मेरे जैसे को बदला है। उनके नेतृत्व ने देश में निराशा को समाप्त करके आशा के माहौल को बहाल किया है।’
बेदी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने उन जैसे व्यक्ति को राजनीति में आने के लिए प्रेरित किया जिसने सोचा था कि वह केवल सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में देश के लोगों की सेवा करेगी। इस अवसर पर उपस्थित अरूण जेटली ने कहा कि भाजपा का हमेशा से प्रयास रहा है कि समाज में विशिष्ट योगदान देने वालों, अनुभवी और विश्वसनीय लोगों को पार्टी में लाया जाए।
जेटली ने कहा कि दिल्ली में ये अटकलें लगती रही हैं कि सामाजिक कार्यों से जुड़ी बेदी क्या राजनीतिक तंत्र के माध्यम से भी समाज की सेवा का नया दायित्व संभालेंगी। ‘‘उनके आ जाने से भाजपा को विश्वास है कि पार्टी को और शक्ति और ताकत मिलेगी।’ उन्होंने माना कि भाजपा ने इस उद्देश्य से बेदी के साथ संपर्क बनाया हुआ था। उन्होंने कहा कि बेदी दिल्ली ही नहीं पूरे देश में जानी जाती हैं। प्रशासन का उनका बहुत अधिक अनुभव है। उनकी अपनी विश्वस्नीयता है और सरकार में रहते और रिटायर होने पर भी उनकी छवि एक योद्धा के रूप में रही है।
बेदी ने कहा कि उन्होंने अपने 40 साल के प्रशासनिक अनुभव के दौरान हजारों को प्रशिक्षित किया। उन्होंने कहा कि ऐसा करते हुए उन्होंने लोगों से बहुत कुछ सीखा भी। ‘अब अपने 40 साल के इस अनुभव को मैं दिल्ली को भेंट करने भाजपा में आई हूं।’



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *