Search
Thursday 20 September 2018
  • :
  • :
Latest Update

गांव के लोग तबाह नहर विभाग के अधिकारी चाय नाश्ते में मशगूल

गांव के लोग तबाह नहर विभाग के अधिकारी चाय नाश्ते में मशगूल

 अमेठी से अंसार अहमद की रिपोर्ट

नहर विभाग के क्षेत्रीय  कर्मचारियों की  घूसखोरी के चलते बाबूपुर के सैकड़ों घरों में नहर का पानी घुस गया है वही ग्रामीणों द्वारा विभाग के आला अधिकारीयों को सूचित करने के बावजूद अभी तक कोई ठोस कार्यवाही नहीं की जा सकी है जिससे गर्मीनो में आक्रोश बढता जा रहा है जे ई द्वारा एस डी ओ तथा एस डी ओ द्वारा एक्सियन से बात कर मामले का शीघ्र निदान किये जाने का मात्र आश्वासन ही अब तक ग्रामीणों को दिया जा रहा है  ग्रामीणों का कहना है की करीब एक सप्ताह होने को है लेकिन अभी तक समस्या का निदान नहीं किया जा सका है जिसके चलते गांव के लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है  ग्रामीणों के मुताबिक  बाबूपुर को जाने वाली कपूरीपुर माइनर का सही तरीके से काम न होने पर बाबूपुर गाॅव में पानी फैल गया है  जिस समय नहर का काम चल रहा था तभी  गाॅव के  लोगों ने इकट्ठा होकर काम करा रहे मेट से और हैदरगढ़  एस डी ओ आफिस में प्रार्थना पत्र देकर शीघ्र कार्यवाही करने की मांग की थी मौके पर जे0ई0 द्वारा सर्वे भी  किया गया। पानी फैलने के कारण को भी बताया गया जे0ई0 द्वारा गेट बिठाने की बात कहकर कार्यवाही करवाने एवं समस्या का समाधान कराये जाने की बात कही गयी  लेकिन न ही  गेट  बिठाया गया  और ना ही पानी  रोकने का कोई सही इंतजाम कराया गया परिणाम स्वरुप म बाॅध जहाँ टूटा था धीरे धीरे उसका और फैलाव होता गया  और पूरी तरह से गाॅव में पानी घुसने लगा । बताया जाता है की नहर विभाग के आला अधिकारी व कर्मचारी  एक भट्ठा मालिक को फायदा पहॅचाने के लिए सड़क बनवाने में सहयोगी बने जिसके चलते यह समस्या गांव के लिए सिरदर्द बनी गांव के लोग बताते हैं की  नहर विभाग के अधिकारी व कर्मचारी आकर भट्ठा मालिक के यहाॅ चाय नाश्ता करते हैं  एवं भट्टा मालिक से सुविधा शुल्क ले चुके हैं जिसके चलते  गाॅव वालों  सिकायत के वावजूद नहर विभाग के आला अधिकारी व कर्मचारियों के कानो में जून नहीं रेंग रही हैं नहीं सही तरीके से टेल नहीं बनायी जा रही है जिससे गांव में पानी घुस रहा है और गांव के लोग परेसान हैं ।



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *