Search
Tuesday 25 September 2018
  • :
  • :
Latest Update

अभी भी रहस्मय बना हुआ है एक ही परिवार की 11 लोगों की हत्या का मामला

अभी भी रहस्मय बना हुआ है एक ही परिवार की 11 लोगों की हत्या का मामला

थाना बाजार शुक्ल में हुई  जलालुद्दीन परिवार के 11 लोगों  की निर्मम हत्या की गयी या पूरे परिवार ने आत्महत्या की यह गुत्थी अभी भी रहस्मय ही बनी हुई है  थाना प्रभारी से जब इस बावत जानकारी चाही गयी तो उन्होंने  भी यही कहा की बड़ी घटना है जाँच की जा रही है पुलिस जाँच में जुटी हुई है !

बताते चले की उक्त घटना को घटित हुए सप्ताह गुजरने को है लेकिन इतनी  बड़ी घटना का रहस्य अभी भी बरक़रार है ग्रामीण  तरह तरह के कयास लगा रहें  हैं पुलिस द्वारा भी अभी तक इसे  रहस्यमय ही रखा जा रहा है क्षेत्रीय कुछ ग्रामीणों की माने तो जिस हालत में  जमालुद्दीन की लाश को फांसी पर लटकते हुए देखा गया था उससे  ऐसा नही लगता कि जमालुद्दीन ने अपने आपको फांसी लगाकर आत्महत्या की है .जमालुद्दीन के हाथो की अंगुलियां बंद थी  हाथ आगे को मुडे हुए हैं चप्पल पैर में बिल्कुल फिट नजर आ रही थी  कपड़ो पर कहीँ भी खून की छीटें आदि भी नज़र नहीं आये मुंह व नांक से किसी तरह की राल व फेना बहता नजर नहीँ आ रहा था  गैस  सिलेंडर तक छटपटाने से भी गिरा नही था  जिसके चलते जमालुद्दीन की हत्या कर  लाश को  हत्यारो द्वारा  टांग दिए जाने के भी लोग कायश लगा रहें हैं  अब जब समय गुजरता जा रहा है तो लोग यह भी कहते देखे जा रहें  हैं की कहीं जमालुद्दीन की खुदकशी की कहानी गढ़कर  मामले को ठन्डे बस्ते में में  डाल देने की फ़िराक में तो नहीं है पुलिस ….? बैरहाल जब इस सन्दर्भ में मुख्यालय लखनऊ से प्रभारी बाज़ार शुकुल से मामले की तहकीकात दूरभास् से वार्ता करके चाही गयी तो उन्होंने भी यही कहा की पुलिस पूरी तत्परता से जाँच में जुटी है घटना बड़ी है जाँच जारी है ! बताए चलें की भरे पूरे परिवार के 11 लोगों की रहस्मय मौत से पूरे क्षेत्र में चर्चा है जमालुद्दीन के रिश्तेदारों व परिवार के बचे सदस्यों का बहुत बुरा हाल है वो दुःख के इस सदमे को भूल नहीं पा रहें  हैं जमालुद्दीन के परिवार वाले इसे हत्या बता रहें हैं परिजनों व रिश्तेदारों का यह भी मानना है की यदि पुलिस इमानदारी से काम करेगी तो हत्यारों को जल्द ही  पर्दाफाश कर सकती है रहा सवाल जमालुद्दीन की आर्थिक स्थति का तो यह भी जानकारी  रिश्तेदार दे रहें हैं  की  जमालुद्दीन की कमजोर  आर्थिक स्थित की अंटकले  गलत हैं  घटना को दबाने के लिए आर्थिक तंगी की कहानी गढ़ी जा रही है है खता पीता परिवार था हाँ यह जरूर है की वो अमीर भी नहीं था परिवार का भरण पोषण आराम से कर रहा था वैसे इस घटना से क्षेत्र  की जनता डरी व सहमी हुई है देखना यह है 11 लोंगों की  इस रहस्यमय  हत्या का खुलासा हो पाता है या नहीं !



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *