Search
Monday 21 January 2019
  • :
  • :
Latest Update

अनोखी शादी, थानेदार बने कैमरामैन और थाना शादी का मंडप

अनोखी शादी, थानेदार बने कैमरामैन और थाना शादी का मंडप
लखनऊ ! सात जन्मों तक का साथ निभाने का वादा करने वाले प्रेमी युगलों के लिए कोई दीवार  बंधन  नहीं बन पाती  सरे बंधनों को तोड़ जब वो शादी करने में सफल रहतें हैं तो वो पल उनके लिए किसी हसीन सपने से कम नही होता । हर कोई अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए सोचता है लेकिन यादगार शादी वाले कुछ कम लोग ही होते हैं कुछ ऐसा ही यादगार लम्हा यहाँ एक प्रेमी युगल के बीच बना इस अनोखी शादी  का नज़ारा उत्तर प्रदेश के मऊ जिले के हलधरपुर थाने पर देखने को मिला, जहां थाना बना  शादी का मंड्प और थानेदार बन गए कैमरामैन तथा  प्रेमी युगल सारे बन्धनों को तोड़ हमेसा के लिए एक दूजे के हो गए !
जानकारी के अनुसार मामला बलिया जिले के रसड़ा के रहने वाले विरेन्द्र और रविता की शादी का है। दोनों के घरवालों ने उनकी शादी तय की थी, लेकिन कुछ कारणों से रविता के पिता ने शादी करने से इंकार कर दिया। इस बात की जानकारी जब रविता ने अपने होने वाले पति विरेन्द्र को दी तो पहले दोनों ने आपस में बातचीत की और दोनो ने फैसला कर लिया कि जिएंगे तो साथ  और मरेंगे तो साथ । इसके बाद दोनों घर से फरार हो गए और मऊ जिल में जाकर अपनी मौसी के घर में रहने लगे।
इसी दौरान विरेन्द्र की मौसी ने देखा कि उसकी साथ वही लड़की है जिसके साथ उसकी शादी तय हुई है। उन्होंने दोनों से मामले की बारे में पूरी जानकारी लेते हुए पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने दोनों के परिजनों को बुलाकर थाने में बने ब्रम्हबाबा के मन्दिर में ही दोनों की शादी करा दी। इस शादी के पक्के प्रमाण के तौर पर एसओ ने खुद ही कैमरा चला कर इसकी पूरी रिकार्डिंग की। ये इनकी शादी का सबसे खूबसूरत लम्हा रहा है और यादगार भी ।


A group of people who Fight Against Corruption.