Search
Saturday 17 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

आल इंडिया मुशायरा एवं कवि सम्मेलन में झूमते रहे श्रोता

आल इंडिया मुशायरा एवं कवि सम्मेलन में झूमते रहे श्रोता

परवाज़ वेलफेयर सोसाइटी के तत्वावधान में लखनऊ स्थित अवध इंटरनेशनल होटल के डायमंड पैलेस हाल में गंगा जमनी आल इंडिया मुशायरा एवं कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें देश व प्रदेश के जाने माने शायरों और कवियों ने जमकर व्यवस्था पर तंज कसे। शायरों व कवियों ने श्रोताओं को शायरी व कविताओं की आकर्षक प्रस्तुती दे न केवल जमकर तालियाँ बटोरी बल्कि देर रात तक उपस्थित जनसमूह को कार्यक्रम में जमे रहने के लिए मजबूर कर दिया ।
कार्यक्रम की शुरुआत परवाज़ वेलफेयर सोसाइटी के जनरल सेक्रेटरी शहरयार ‘परवाज़’ लहरपुरी जो कि खुद एक अच्छे शायर भी हैं ने सलाम व नात पढकर शुरू किया। उनके बाद डॉ हारून रसीद ने अपना कलाम पेश किया उन्होंने उजाले खाक नस्लों को मिलेंगें, जो जहनों में अधेंरे बो रहे हों ग़ज़ल पेश कर श्रोताओं की वाहवाही लूटी इसके बाद वरिष्ठ पत्रकार जनजागरण मीडिया मंच के सेक्रेटरी रिजवान चंचल ने भारत की तस्वीर को बयां करते हुए ‘हाय ये किसकी नज़र लग गयी देखो सोन चिरैया पर कविता पढ़कर श्रोताओं की तालियाँ बटोरी. शायर शहरयार जलालपुरी ने ‘नदी सहरा समंदर बोलता है , मगर सब मेरे अंदर बोलता है’ से समाज को आइना दिखाने की कोशिस की, जनजागरणमीडियामंच के अध्यक्ष वरिष्ठ साहित्यकार हरि पाल सिंह ने मौजूदा हुकूमत पर देश की हालत को कुछ यूं पेश कर सवाल उठाये ‘क्यों सिस्कन है क्यों तड़पन हैं क्यों रोते यहाँ दुधमुहें लाल, कविता पढकर श्रोताओं की तालियां बटोरी. राही निजामी ने पढ़ा कि समझकर जो ना कुछ समझे उसे नादान कहते हैं, हुकूमत जो करे दिल पर उसे सुल्तान कहते हैं।गरीबों के जो काम आए, उसे धनवान कहते हैं। शायर सरफराज ने कुछ इस अंदाज में कहा जिसके अरमानों की दुनिया सरहद पर लुट जाती है। उस बेबा से जाकर पूछो ,कैसे ईद मनाती है।झांसी के शायर हैदर ने अपनी गजल में कहा कि ये तो कोई बात नहीं जो कुछ आया मुंह में बोल दिया,। कार्यक्रम की सदारत कर रहे कमर गोंडवी ने तेरी तस्वीर बनाने में देर लगेगी गजल पेश की। तरक्की पर है भष्टाचार, लुटेरी हो गई हर सरकार कि जनता चीख रही है। मिठाई मांगे थानेदार कि जनता चीख रही है। दुरंगे लोग तिरंगे की बात करते हैं आदि पर भी शायरों कवियों ने श्रोताओं की खूब तालियां बटोरी कार्यक्रम का संचालन कर रहे परवाज़ वेलफेयर सोसाइटी के जनरल सेक्रेटरी शहरयार ‘परवाज़’ लहरपुरी ने राजनेताओं पर अपनी शायरी की प्रस्तुती दे श्रोताओं में जोश भर दिया।



A group of people who Fight Against Corruption.