Search
Thursday 15 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

अब उन्नाव पुलिस लाइन में मिले सैकड़ों नरकंकाल…

अब उन्नाव पुलिस लाइन में मिले सैकड़ों नरकंकाल…

गृहमंत्रालय ने मांगी रि‍पोर्ट

उन्नाव: यूपी के उन्नाव के पुलिस लाइन में गुरुवार को 100 से ज्यादा नरकंकाल मिलने का मामला सामने आया है। ये नरकंकाल पुलिस लाइन के एक कमरे में बोरों में बंद करके रखा गया था। जिस कमरे में ये नरकंकाल मिले हैं, उसके करीब ही सर्वेंट क्वार्ट्स और पुलिस स्टेशन भी है।पुलिस लाइन में वृहस्पतिवार को नर कंकाल मिलने की खबर से हड़कंप मच गया। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इसपर संज्ञान लि‍या है। 48 घंटे में यूपी सरकार से रिपोर्ट मांगी है। वहीं, राज्‍य सरकार ने भी मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। साथ ही सभी कंकालों के डीएनए सुरक्षित कर उनकी शिनाख्त की कवायद शुरू कर दी है।बता दें कि हाल ही के दिनों में उत्तर प्रदेश में ऐसी दूसरी घटना है। कुछ दिनों पहले उन्नाव के बॉर्डर पर परियर गांव से सटे परियर घाट पर गंगा नदी में 200 से ज्‍यादा शव, उनके अवशेष और कंकाल तैरते मिले थे जिन्हें जानवर व पक्षी खा रहे थे अभी इस घटना को लोग भुला भी नहीं पाए थे की police लाइन में मिले सैकड़ों नरकंकाल की खबर ने तो क्षेत्र में खलबली ही मचा दी!
मीडिया में नरकंकाल की खबर आने के बाद पुलिस अब तक स्पष्ट कोई जवाब नहीं दे पाई है। पांच मिनट बाद ही मौके पर पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रामकृष्ण यादव ने कहा कि जांच चल रही है। एसएसपी ने कहा कि यहां कभी अस्पताल हुआ करता था और जिस कमरे में नर कंकाल मिले हैं वह कभी विसरा रूम था। फिर भी जब तक जांच नहीं हो जाती कुछ भी स्पष्ट नहीं कहा जा सकता।
जिले के सीएमओ ने इस संबंध में बताया कि यह पुलिस का पुराना अस्पताल है। यहां बोरों में वे नरकंकाल रखे गए जिनका विसरा जांच होना था। क्योंकि 2008 से पहले यह नियम था जो नरकंकाल मिलते थे उनको पूरी जांच के लिए रखा जाता था। ये वही शव हैं। इसके निस्तारण के लिए लखनऊ से इजाजत मांगी गई है। आदेश आते ही इनका निस्तारण कर दिया जाएगा। यूपी के एडीजी लॉ एंड आर्डर मुकुल गोयल ने मामले को गंभीर बताया है और जांच कराने की बात कही है। उन्‍होंने कहा है कि‍ मामले की जांच कराने के साथ कंकालों की शिनाख्त और उनके विधिक डिस्पोजल के संबंध में एक्सपर्ट्स से कंसल्ट किया जाएगा। लापरवाही के दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी।
बीजेपी ने कहा कि यूपी में कानून व्यवस्था लचर
इस बीच बीजेपी के वरिष्ठ नेता लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा, ‘ उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था बेहद बदतर अवस्था में पहुंच गई है। हम चाहते हैं कि जिलाधिकारी को निलंबित किया जाए। हम सरकार से जवाब मांगेंगे।’ बीजेपी विधायक पंकज गुप्ता ने कहा कि आखिर इतने दिनों तक नर कंकाल को क्यों रखा गया। इनका बिसरा रखना चाहिए न की नरकंकाल, मामले की पूरी जांच होनी चाहिए। आरोप लगाया गया कि हो सकता है कि यहां से नर कंकालों की तस्करी की जाती हो। वे सैकड़ों समर्थकों सहि‍त चि‍कि‍त्‍सालय गेट पर धरने पर बैठ गए। उन्‍होंने मामले की सही जांच कराने की मांग की है। उनका कहना है कि‍ यदि‍ मामले की सही जांच नहीं होगी तो आंदोलन को मजबूर होंगे।
कांग्रेस नेता मीम अफजल ने उत्तर प्रदेश में शासन व्यवस्था पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को भी मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए। हालांकि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव केसी पांडे ने सभी आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि यूपी सरकार मामले की गहनता से जांच कराएगी। इसमें जो कोई भी दोषी पाया जाता है उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *