Search
Monday 21 January 2019
  • :
  • :
Latest Update

महंगा पानी-सस्ता खून, चार रुपए के लिए डबल मर्डर

महंगा पानी-सस्ता खून, चार रुपए के लिए डबल मर्डर
इलाहाबाद! पानी  महंगा सस्ता खून  मात्र  चार रुपए के लिए दो युवाओं  की हत्या कर दी जाती है सुनकर आश्चर्य होता है  मामला इलाहाबाद का है घूरपुर के गयासुदीनपुर गांव में शुक्रवार को महज चार रुपए के विवाद में दो लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वारदात की वजह आटा चक्की में गेहूं की पिसाई को लेकर विवाद है। चक्की वाला प्रति किलो गेहूं की पिसाई के एवज में चार रुपए मांग रहा था, जबकि ग्राहक का कहना था कि गेहूं की पिसाई दो रुपए प्रति किलो है। इसी बात को लेकर विवाद बढ़ा, जिसके बाद गोली चली और दो लोगों की हत्या हो गई।
 इस घटना के बाद इलाके में तनाव का माहौल हो गया। आक्रोशित लोग सड़कों पर उतर आए और जाम लगाकर प्रदर्शन करने लगे। कई जगहों पर आगजनी भी की गई। पुलिस ने चक्की के मालिक सहित चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, सीएम अखिलेश यादव ने इलाहाबाद में डबल मर्डर की वारदात को संज्ञान में लिया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख का मुआवजा देने का एलान किया है।

मोहद्दीनपुर गांव का रजत भारतीय (21) ने गुरुवार की शाम 154 किलो गेहूं लेकर आटा चक्की में पीसने के लिए दिया था। शुक्रवार की सुबह वह आटा लेने पहुंचा और चक्की के मालिक राकेश दुबे को 150 रुपए दिए। मालिक ने उससे चार रुपए और मांगे। कहासुनी के बाद रजत ने 20 रुपए का नोट उसके मुंह पर दे मारा। इससे आटा चक्की का मालिक भड़क गया, उसने रजत पर हसिया से वार कर दिया। खून से लथपथ हो किसी तरह वह अपने घर पहुंचा। ऐसे में उसे देखकर परिजन और पड़ोसी आक्रोशित हो गए और आटा चक्की पहुंचे।
भीड़ ने आटा चक्की के मालिक के घर पर पत्थरबाजी की। जवाब में चक्की के मालिक ने फायरिंग कर दी। इस दौरान राहुल (20) और उसके भाई आशू (18) को गोली लग गई। दोनों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि दो युवक घायल हो गए। इससे आक्रोशित होकर लोगों ने चक्की के मालिक के घर आग लगा दी।
 चक्की के मालिक सहित 4 लोग अरेस्ट
हंगामे और आगजनी की सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। किसी तरह आग पर काबू पाया गया। पुलिस ने चक्की के मालिक राकेश सहित उसके तीनों भाइयों सुरेश, वशिष्ठ नारायण और राजेश को गिरफ्तार कर लिया है। शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। इलाके में तनाव को देखते हुए गांव में अतिरिक्त फोर्स की तैनाती की गई है।


A group of people who Fight Against Corruption.