Search
Tuesday 18 September 2018
  • :
  • :
Latest Update

दुनिया का सबसे बड़ा परिवार भारत में, 181 सदस्‍य रहते हैं एक साथ

दुनिया का सबसे बड़ा परिवार भारत में, 181 सदस्‍य रहते हैं एक साथ

जनजागरण टीम- गुज़रे ज़माने में  एकल परिवारों की ओर लोगों का रुझान ज्यादा था ,परिवार को पूंजी समझने वाले बहुतायत लोग दीखते थे  जिनकी कई पीढ़ियां एक ही छत के नीचे रह रही थी लेकिन धीरे धीरे याक क्रम टूटता गया और परिवार अलग होते रहे लेकिन आज जब  विश्व परिवार दिवस के इस मौके  पर  दुनिया के सबसे बडे़ परिवार की कहानी सामने आयी तो एक बार फिर लगा की अभी भी संयुक्त परिवार वाले बहुतायत लोग अपने भारत में मौजूद हैं जी हाँ  181 सदस्यों वाला यह परिवार भारत  के पूर्वोत्तर में स्थित मिजोरम में रहता है जो अपने आप में विशाल सयुंक्त परिवार होने का एक अदभुत उदाहरण  प्रस्तुत कर रहा है ।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज जिओना चाना का परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार है। इसमें कुल 181 सदस्य हैं। यह मिजोरम के बक्तवांग गांव में 100 कमरों के चार मंजिला घर में रहता है। चाना ने पहली शादी 17 साल की उम्र में की। उन्होंने एक साल में 10 शादियां तक की हैं। परिवार आपसी प्यार और सम्मान के साथ रहता है। चाना अभी 72 साल के हैं।

परिवार में अभी भी सेना जैसा अनुशासन है। चाना की सबसे पहली पत्नी जाथिआंगी की सत्ता चलती है। वही सबके दैनिक काम जैसे सफाई, भोजन बनाना,कपड़े धोना आदि बांटती हैं। चाना खुद को बेहद भाग्यशाली मानते हैं कि उनका परिवार दुनिया का सबसे बड़ा परिवार है। परिवार के सिर्फ एक दिन के खाने में 30 चिकन, दर्जनों अंडे, 60 किग्रा आलू,100 किग्रा चावल आदि  लगता  हैं। परिवार हर दिन 20 किग्रा फल भी खाता है।

2011 की जनसंख्या के अनुसार 2001 से 2011 के बीच आर्थिक प्रगति की दर 7.4 फीसद रही। समृद्धि और रोजगारी के मौके बढ़ने से एकल परिवारों की संख्या भी बढ़ी। 2001 में देश में जहां 13.5 करोड़ एकल परिवार थे वहीं 2011 में इनकी संख्या बढ़कर 17.2 करोड़ हो गई। हालांकि शहरों में अब एकल परिवारों की संख्या जनसंख्या के अनुपात में नहीं बढ़ रही। इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ पापुलेशन स्टडीज के अनुसार शहरों में महंगे होते घर और पति-पत्नी दोनों के काम करने से संयुक्त परिवारों का चलन बढ़ रहा है। संयुक्त परिवारों में कई बार पीढ़ियों के बीच सामंजस्य बनाने की बड़ी चुनौती रहती है।



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *