Search
Thursday 15 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

अशफाक सुपुर्दे खाक ,लेकिन गोलियों व बमबारी  ने जगदीशपुर पुलिस के कारनामों पर सवाल खड़े किये

अशफाक सुपुर्दे खाक ,लेकिन गोलियों व बमबारी  ने जगदीशपुर पुलिस के कारनामों पर सवाल खड़े किये

अमेठी से  जिला मीडिया प्रभारी रहीम उल्ला खान की रिपोर्ट
जगदीशपुर ब्लाक के पास विजया बैंक के सामने पूर्व ब्लाक प्रमुख के गुर्गो द्वारा चलायी गयी गोलियों व बमबारी  ने जगदीशपुर पुलिस के कारनामों पर सवाल खड़े कर दिए हैं

ग्रामीणों के मुताबिक पुरानी रंजिश के चलते विजया बैंक जगदीशपुर ब्रांच  के सामने पहले से घात लगाकर बैठे कुछ हमलावरों  ने अशफाक अहमद 33 वर्ष पुत्र अंसार अहमद पर ताबड़तोड़ बमबारी और फायरिंग कर दी जिससे मौके पर ही उनकी मृत्यु हो गई मौके पर मौजूद लोगों  के अनुसार अशफाक अहमद अपने दो साथियों के साथ अपनी काली सफारी नंबर यूपी 32 जी w 8111 से जैसे ही विजया बैंक के सामने पहुंच कर उतरे ही थे कि वहां पहले से घात लगाए बैठे अपराधियों ने बमबारी और  ताबड़तोड़ गोलियों से उन्हें लगभग 12:00 बजे दोपहर मौत के घाट उतार दिया घटना को अंजाम देने के बाद दो बाइको  से हमलावर गोलियां चलाते हुए भागने की कोशिश की मगर अशफाक के ड्राइवर रज़ी अहमद पुत्र  मुहम्मद अहमद कमरौली ने जान हथेली पर रखकर पंचर व क्षतिग्रस्त सफारी से अपाची बाइक नंबर  U P 36 B 7043 से भाग रहे बदमाशों को  टक्कर मार  कर गिरा दिया और जिन्हें मौके पर स्थानीय लोगों के सहयोग से पकड़ लिया गया पुलिस ने शूटरो  के पास से पिस्टल और 2,45000 रुपए भी बरामद किया पकड़े गए बदमाशॉ ने अपने को  राजेश विक्रम का शूटर होना भी कबूल किया इस घटना को लेकर जहाँ जगदीशपुर पुलिस की निष्क्रियता पर लोगों में काफी आक्रोश था वही दूसरी तरफ  पब्लिक वहां की सक्रियता बनाये थी .  घटनाक्रम के कुछ देर बाद दुकानों को बंद कराने में प्रशासन व क्षेत्रीय लोगों में काफी झड़प भी हुई  जनता पुलिस प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद का नारा लगाने लगी आनन-फानन अमेठी जिला अधिकारी शकुंतला गौतम व पुलिस अधीक्षक के के गहलोत ने पहुँच कर सामाजिक व सम्मानित लोग जैसे मोहम्मद नईम इमरान अहमद फरहान रसूल रिजवान रसूल मेराज प्रधान और पूर्व प्रधान सोहेल अहमद नसीम प्रधान  आदि  लोगों के सहयोग से भीड़ पर काबू पाया जगदीशपुर थाना कोतवाल जे पी  पांडे की निष्क्रियता को देखते हुए ए डी जी अभय कुमार ने कोतवाल को सस्पेंड करने की बात कही  जब  उच्च अधिकारियों द्वारा दरोगा को सस्पेंड करने व हमलावरों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने का आस्वाशन दिया गया तब जाकर  भीड़ का गुस्सा शांत हुआ .

मृतक के पिता अंसार अहमद द्वारा दी गई तहरीर पर जगदीशपुर क्षेत्र अमेठी के सतीश कुमार उर्फ सताई वंशराज यादव राजेश विक्रम सिंह राकेश विक्रम सिंह अमित चौबे व दो अन्य अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज करा दिया  गया है अब यह देखना है उच्च अधिकारियों द्वारा  दिए गए आदेशों निर्देशों  पर उचित कार्यवाही होती है या नहीं.

बताया यह भी जा रहा है की अशफाक के हत्यारों की पकड़ के लिए पुलिस अधीक्षक के के गहलोत की ओर से सात टीमें गठित की गई हैं। ये टीमें सम्भावित ठिकानों पर दबिश दे रही हैं। मंगलवार रात पुलिस टीमों ने आधा दर्जन ठिकानों पर दबिश दी। पर, पुलिस को कोई खास कामयाबी नहीं मिल सकी है। उधर हत्या के दूसरे दिन भी दहशत के मारे जगदीशपुर में ज्यादातर दुकानें बन्द रहीं। बाजार में जगह-जगह पुलिस और पीएसी के जवान कैम्प किए हुए हैं।  बताते चलें की जगदीशपुर विजया बैंक के पास मंगलवार को करीब  बारह बजे गोलियों की तड़तड़ाहट सुन भगदड़ मच गई। भाड़े के बदमाशों की अंधाधुंध फायरिंग में अशफाक का शरीर पूरी तरह से छलनी हुआ था। यह खबर इतनी तेज फैली कि कई गांवों के लोग जगदीशपुर के लिए चल दिए। तनाव को लेकर आईजी लखनऊ व डीआईजी फैजाबाद भी जगदीशपुर पहुंचे। एसपी की ओर से संग्रामपुर एसओ, कमरौली एसओ, क्राइम ब्रांच की दो, सीओ मुसाफिरखाना, एसडीएम गौरीगंज, सीओ गौरीगंज और एएसपी के नेतृत्व में सात टीमें गठित की गईं हैं। समाचार लिखे जाने तक ये टीमें हत्यारों की धरपकड़ को उनके सम्भावित ठिकानों पर हाथ पांव मार रही हैं।  अशफाक के ज़नाज़े में भी बड़ी संख्या में लोग नम आँखों के साथ शामिल हुए !



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *