Search
Wednesday 21 November 2018
  • :
  • :
Latest Update

बीएचयू परिसर बना जंग का मैदान,गुरिल्ला युद्ध जैसी स्थित बनी

बीएचयू परिसर बना जंग का मैदान,गुरिल्ला युद्ध जैसी स्थित बनी

लखनऊ ब्यूरो ! छेड़खानी के विरोध में सड़क पर उतरीं छात्राओं की अनसुनी करने और वीसी लाज पर पहुंचेने के उपरान्त  सुरक्षाकर्मियों द्वारा लाठीचार्ज किये जाने के बाद शनिवार देर रात काशी हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) परिसर जंग का मैदान बन गया काफी देर तक पुलिस और छात्र -छात्राओं के बीच गुरिल्ला काबू में करने के लिए परिसर में घुसी फोर्स को हास्टल के छात्रों का कड़ा विरोध झेल युद्ध जैसी स्थिति बनी रही। इस दौरान हवाई फायरिंग व आंसू गैस दागने के साथ ही पुलिस ने जवाबी पथराव भी किया मगर हालात काबू में नहीं आए। मारपीट और पथराव के बीच  बमों के धमाकों से आस पास का इलाका थर्रा उठा। बवाल के चलते एक दारोगा व सिपाही समेत कई  छात्र-छात्राओं  के भी  गंभीर चोटे आई है।आसपास घना अंधकार व  बम धमाकों के चलते देर रात तक पुलिस वायरलेस पर लगातार और और फोर्स भेजे जाने की मांग  करती दिख रही थी हालात को काबू में करने के लिए जिले के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुँच गए हैं !

बताते चलें की सिंहद्वार पर शुक्रवार से ही धरनारत छात्राओं को पुलिस ने कल खदेड़कर बीएचयू परिसर के भीतर कर दिया था  इसके बाद भी सिंहद्वार आधीरात के बाद कई बार छात्र- छात्राओं  द्वारा घेरा गया। सिंहद्वार के बाहर और भीतर की इस दोतरफा जंग में पुलिस की कमी बार-बार आड़े आ रही थी इसी बीच  एक अधिकारी के ऊपर भी पथराव किया गया देर रात तक परिसर में बेकाबू हालात संभालने के लिए पुलिस हाथ-पांव मार रही थी इसके पूर्व परिसर में छेड़खानी के विरोध में सड़क पर उतरीं छात्राओं का आंदोलन दबाने के लिए दिन में विवि प्रशासन ने हरसंभव हथकंडे अपनाए, पर वे विफल रहे। कुछ छात्राएं धरना के साथ ही दोपहर में भूख हड़ताल पर बैठ गई थीं। उनकी मांग थी कि कुलपति मौके पर आकर उनकी बात व समस्याएं सुनें जबकि प्रशासन का तर्क था कि कुलपति धरनास्थल पर नहीं जाएंगे। दोनों पक्षों की जिद के कारण बीएचयू का माहौल गरम होता गया आक्रोशित छात्र – छात्राओं  ने सिंहद्वार पर कुलपति का पुतला भी फूंका।



A group of people who Fight Against Corruption.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *